रयान इंटरनेशनल स्कूल ग्रुप के मालिकों को नहीं मिली अग्रिम जमानत

नई दिल्ली। प्रद्युम्न ठाकुर हत्याकांड में हरियाणा पुलिस की रडार पर आ चुके रयान इंटरनेशनल स्कूल ग्रुप के सीईओ रयान अगस्टिन पिंटो, संस्थापक रयान अगस्टिन फ्रांसिस पिंटो और प्रंबध निदेशक ग्रेस पिंटो पर गिरफ्तारी की तलवार लटकने लगी है। इन तीनों की ओर से हरियाणा पंजाब हाईकोर्ट के समक्ष दाखिल की गई अग्रिम जमानत याचिका पर सुनवाई करने के बाद जस्टिस इंद्रजीत सिंह ने राहत देने से मना करते हुए हरियाणा सरकार को नोटिस भेजकर उसका पक्ष जानने की कोशिश की है।

Owner Of Ryan International School Didnt Get Relief :

मिली जानकारी के मुताबिक हाईकोर्ट ने रेयान इंटरनेशनल स्कूल के मालिकों की गिरफ्तारी पर रोक लगाने से स्पष्ट शब्दों में मना कर दिया है। इससे पहले 14 सितंबर को मुंबई हाईकोर्ट ने भी इन तीनों की अग्रिम जमानत याचिका पर किसी तरह की राहत देने से इंकार कर दिया था।

ज्ञात हो कि रयान इंटरनेशनल स्कूल की गुडगांव शाखा में 9 सिंतबर को कक्षा 2 में पढ़ने वाले छात्र प्रद्युम्न ठाकुर की स्कूल के टॉयलेट में गला रेत कर हत्या कर दी गई थी। जिसके बाद से देश की सबसे बड़े स्कूल ​ग्रुप के मालिकों पर गिरफ्तारी की तलवार लटकर रही है। देश के तमाम बड़े नेताओं से पिंटो परिवार के संबन्धों को आधार बनाकर मीडिया ने पिंटो परिवार के खिलाफ जांच में ढ़ील बरते जाने का मुद्दा उठाकर इस मामले को तूल दे दिया था।

नई दिल्ली। प्रद्युम्न ठाकुर हत्याकांड में हरियाणा पुलिस की रडार पर आ चुके रयान इंटरनेशनल स्कूल ग्रुप के सीईओ रयान अगस्टिन पिंटो, संस्थापक रयान अगस्टिन फ्रांसिस पिंटो और प्रंबध निदेशक ग्रेस पिंटो पर गिरफ्तारी की तलवार लटकने लगी है। इन तीनों की ओर से हरियाणा पंजाब हाईकोर्ट के समक्ष दाखिल की गई अग्रिम जमानत याचिका पर सुनवाई करने के बाद जस्टिस इंद्रजीत सिंह ने राहत देने से मना करते हुए हरियाणा सरकार को नोटिस भेजकर उसका पक्ष जानने की कोशिश की है।मिली जानकारी के मुताबिक हाईकोर्ट ने रेयान इंटरनेशनल स्कूल के मालिकों की गिरफ्तारी पर रोक लगाने से स्पष्ट शब्दों में मना कर दिया है। इससे पहले 14 सितंबर को मुंबई हाईकोर्ट ने भी इन तीनों की अग्रिम जमानत याचिका पर किसी तरह की राहत देने से इंकार कर दिया था।ज्ञात हो कि रयान इंटरनेशनल स्कूल की गुडगांव शाखा में 9 सिंतबर को कक्षा 2 में पढ़ने वाले छात्र प्रद्युम्न ठाकुर की स्कूल के टॉयलेट में गला रेत कर हत्या कर दी गई थी। जिसके बाद से देश की सबसे बड़े स्कूल ​ग्रुप के मालिकों पर गिरफ्तारी की तलवार लटकर रही है। देश के तमाम बड़े नेताओं से पिंटो परिवार के संबन्धों को आधार बनाकर मीडिया ने पिंटो परिवार के खिलाफ जांच में ढ़ील बरते जाने का मुद्दा उठाकर इस मामले को तूल दे दिया था।