दुर्गा महोत्सव कार्यक्रम में प. बंगाल के राज्यपाल ने अपमानित महसूस किया

P. Bengal Governor
दुर्गा महोत्सव कार्यक्रम में प. बंगाल के राज्यपाल ने अपमानित महसूस किया

कोलकाता। पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ का कहना है कि कोलकाता में हुए दुर्गा पूजा महोत्सव के एक कार्यक्रम के दौरान उन्होने अपमानित महसूस किया। हालांकि उन्होंने यह नही बताया कि उनके साथ ऐसा क्या हुआ जो वो ऐसी बात बोल रहे हैं लेकिन वो इस अपमान से काफी दुखी नजर आ रहे हैं। उनका कहना है कि कोई चीज उनके संवैधानिक कर्तव्यों को निभाने के आड़े नहीं आ सकती है।

P Bengal Governor Feels Humiliated At Durga Festival Program :

राज्यपाल ने कहा, ‘महोत्सव में मैने अपमानित महसूस किया। मैं बहुत दुखी और व्यथित हूं। यह मेरा नहीं बल्कि पश्चिम बंगाल के लोगों का अपमान है। वह इस अपमान को पचा नहीं पाएंगे।’ धनखड़ ने इस दौरान कहा कि मैं पश्चिम बंगाल के लोगों का सेवक हूं। लेकिन मेरे संवैधानिक कर्तव्यों को पूरा करने के आड़े कुछ नहीं आ सकता है।

राज्यपाल द्वारा अपमानित होने का कारण स्पष्ट तो नही किया गया लेकिन सूत्रों के मुताबिक शुक्रवार को कोलकाता में तृणमूल सरकार ने दुर्गा महोत्सव के चलते एक कार्यक्रम का आयोजन किया था। इस कार्यक्रम में ममता बनर्जी मंत्रिमंडल के सदस्य, राज्यपाल, विभिन्न वाणिज्य दूतावासों के सदस्य तथा अन्य माननीय और पर्यटक शामिल हुए थे। सूत्रो की माने तो राज्यपाल को ​बिल्कुल किनारे वाली सीट दी गयी जहां से कार्यक्रम सही से दिख भी नही रहा था जबकि राज्यपाल मुख्य अतिथि थे। उन्हें साढ़े चार घंटे तक बैठा कर रखा गया और मीडिया से पूरी तरह से ब्लैक आउट कर दिया गया।

कोलकाता। पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ का कहना है कि कोलकाता में हुए दुर्गा पूजा महोत्सव के एक कार्यक्रम के दौरान उन्होने अपमानित महसूस किया। हालांकि उन्होंने यह नही बताया कि उनके साथ ऐसा क्या हुआ जो वो ऐसी बात बोल रहे हैं लेकिन वो इस अपमान से काफी दुखी नजर आ रहे हैं। उनका कहना है कि कोई चीज उनके संवैधानिक कर्तव्यों को निभाने के आड़े नहीं आ सकती है। राज्यपाल ने कहा, ‘महोत्सव में मैने अपमानित महसूस किया। मैं बहुत दुखी और व्यथित हूं। यह मेरा नहीं बल्कि पश्चिम बंगाल के लोगों का अपमान है। वह इस अपमान को पचा नहीं पाएंगे।’ धनखड़ ने इस दौरान कहा कि मैं पश्चिम बंगाल के लोगों का सेवक हूं। लेकिन मेरे संवैधानिक कर्तव्यों को पूरा करने के आड़े कुछ नहीं आ सकता है। राज्यपाल द्वारा अपमानित होने का कारण स्पष्ट तो नही किया गया लेकिन सूत्रों के मुताबिक शुक्रवार को कोलकाता में तृणमूल सरकार ने दुर्गा महोत्सव के चलते एक कार्यक्रम का आयोजन किया था। इस कार्यक्रम में ममता बनर्जी मंत्रिमंडल के सदस्य, राज्यपाल, विभिन्न वाणिज्य दूतावासों के सदस्य तथा अन्य माननीय और पर्यटक शामिल हुए थे। सूत्रो की माने तो राज्यपाल को ​बिल्कुल किनारे वाली सीट दी गयी जहां से कार्यक्रम सही से दिख भी नही रहा था जबकि राज्यपाल मुख्य अतिथि थे। उन्हें साढ़े चार घंटे तक बैठा कर रखा गया और मीडिया से पूरी तरह से ब्लैक आउट कर दिया गया।