आईएनएक्स केस : पी. चिदंबरम को सुप्रीम कोर्ट से नहीं मिली राहत, जारी हुआ लुकआउट नोटिस

P. Chidambaram
चिदंबरम को SC के बाद CBI कोर्ट से भी झटका, 30 अगस्त तक बढ़ाई गई पुलिस रिमांड

नई दिल्ली। आईएनएक्स केस में फंसे कांग्रेस नेता पी. चिदंबरम पर शिकंजा कसता जा रहा है। सुप्रीम कोर्ट से भी उन्हें राहत नहीं मिली है। स्पेशल लीव पिटीशन पर सुनवाई करते हुए न्यायमूर्ति एनवी रामाना ने चिदंबरम की याचिका को मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई के समक्ष सुनवाई के लिए भेज दिया। वहीं, चिदंबरम पर बढ़ते शिकंजे के बाद उनके विदेश जाने की आशंका भी बढ़ गई है, जिसके कारण लुकआउट नोटिस जारी कर दिया गया है।

P Chidambaram Did Not Get Relief From Supreme Court Lookout Notice Issued :

चिदंबरम के वकील ने इस मामले को चीफ जस्टिस के सामने तुरंत सुनवाई के लिए पहले से सूचीबद्ध नहीं किया था। फिलहाल सीजेआई की अध्यक्षता में पांच जजों की संवैधानिक बेंच अयोध्या केस की सुनवाई कर रही है। चिदंबरम के मामले की सुनवाई कब होगी यह अभी निश्चित नहीं हुआ है।

वहीं, पी चिदंबरम की अग्रिम जमानत याचिका रद्द करने के दिल्ली हाईकोर्ट के आदेश के खिलाफ अं​तरिम राहत की मांग करते हुए उनके वकीलों द्वारा सुप्रीम कोर्ट में स्पेशल लीव पिटीशन (SLP) दायर की गई है। जिसपर सुनवाई थोड़ी देर बाद की जाएगी। सुनवाई के लिए वरिष्ठ वकील और कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल, सलमान खुर्शीद और विवेक तन्खा कोर्टरूम में मौजूद हैं।

बता दें कि, आईएनएक्स मीडिया केस में बुधवार सीबीआई फिर पी. चिदंबरम के घर पहुंची, लेकिन वह नहीं मिले। इससे पहले पूर्व वित्त मंत्री की कानूनी टीम ने सीबीआई को पत्र लिख उच्चतम न्यायालय में बुधवार को उनकी याचिका पर सुनवाई से पहले उनके खिलाफ किसी प्रकार की बलपूर्वक कार्रवाई ना करने की अपील की।

नई दिल्ली। आईएनएक्स केस में फंसे कांग्रेस नेता पी. चिदंबरम पर शिकंजा कसता जा रहा है। सुप्रीम कोर्ट से भी उन्हें राहत नहीं मिली है। स्पेशल लीव पिटीशन पर सुनवाई करते हुए न्यायमूर्ति एनवी रामाना ने चिदंबरम की याचिका को मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई के समक्ष सुनवाई के लिए भेज दिया। वहीं, चिदंबरम पर बढ़ते शिकंजे के बाद उनके विदेश जाने की आशंका भी बढ़ गई है, जिसके कारण लुकआउट नोटिस जारी कर दिया गया है। चिदंबरम के वकील ने इस मामले को चीफ जस्टिस के सामने तुरंत सुनवाई के लिए पहले से सूचीबद्ध नहीं किया था। फिलहाल सीजेआई की अध्यक्षता में पांच जजों की संवैधानिक बेंच अयोध्या केस की सुनवाई कर रही है। चिदंबरम के मामले की सुनवाई कब होगी यह अभी निश्चित नहीं हुआ है। वहीं, पी चिदंबरम की अग्रिम जमानत याचिका रद्द करने के दिल्ली हाईकोर्ट के आदेश के खिलाफ अं​तरिम राहत की मांग करते हुए उनके वकीलों द्वारा सुप्रीम कोर्ट में स्पेशल लीव पिटीशन (SLP) दायर की गई है। जिसपर सुनवाई थोड़ी देर बाद की जाएगी। सुनवाई के लिए वरिष्ठ वकील और कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल, सलमान खुर्शीद और विवेक तन्खा कोर्टरूम में मौजूद हैं। बता दें कि, आईएनएक्स मीडिया केस में बुधवार सीबीआई फिर पी. चिदंबरम के घर पहुंची, लेकिन वह नहीं मिले। इससे पहले पूर्व वित्त मंत्री की कानूनी टीम ने सीबीआई को पत्र लिख उच्चतम न्यायालय में बुधवार को उनकी याचिका पर सुनवाई से पहले उनके खिलाफ किसी प्रकार की बलपूर्वक कार्रवाई ना करने की अपील की।