पी चिदंबरम ने जेल से ही अर्थव्यवस्था को लेकर साधा केन्द्र सरकार पर निशाना, कही ये बात

p chidambaram
पी चिदंबरम ने जेल से ही अर्थव्यवस्था को लेकर साधा केन्द्र सरकार पर निशाना, कही ये बात

नई दिल्ली। आईएनएक्स मीडिया मामले में जेल भेजे गए पूर्व वित्तमंत्री पी चिदंबरम ने अर्थव्यवस्था को लेकर केंद्र सरकार पर निशाना साधा है। उनके कहने पर परिवार के एक सदस्य ने ट्वीट किया कि- ‘मुझे अर्थव्यवस्था की गहरी चिंता है। गरीब लोग सबसे ज्यादा प्रभावित हैं। कम आय, कम नौकरियां, कम व्यापार और कम निवेश गरीब और मध्यम वर्ग को प्रभावित करते हैं। देश को इस गिरावट और निराशा से बाहर निकालने की योजना कहां है?’

P Chidambaram Has Targeted The Central Government Regarding The Economy From Prison Itself Said This :

बता दें कि वरिष्ठ कांग्रेसी नेता पी चिदंबरम 5 सितंबर को तिहाड़ जेल में न्यायिक हिरासत पर भेज दिया गया था। उन्होने सीबीआई की 15 दिनों की रिमांड पूरी होने के बाद कोर्ट में जमानत याचिका डाली थी, जिसे न्यायालय ने उसे खारिज कर दिया था। हालांकि इस सब के बावजूद चिदंबरम ट्विटर की मदद से खुद पर लगे आरोपों और अर्थव्यवस्था पर अपना पक्ष रख रहे हैं।

गौरतलब हो कि 3 सितंबर को सीबीआई की हिरासत के बारे में पूछे जाने पर भी चिदंबरम ने देश की अर्थव्यवस्था पर चिंता व्यक्त की थी। उन्होंने अप्रैल से जून के क्वार्टर में 5 प्रतिशत ग्रोथ रेट को शर्मनाक बताया। उन्होंने कहा कि 5 प्रतिशत, क्या है 5 प्रतिशत, आपको याद है 5 प्रतिशत?

नई दिल्ली। आईएनएक्स मीडिया मामले में जेल भेजे गए पूर्व वित्तमंत्री पी चिदंबरम ने अर्थव्यवस्था को लेकर केंद्र सरकार पर निशाना साधा है। उनके कहने पर परिवार के एक सदस्य ने ट्वीट किया कि- 'मुझे अर्थव्यवस्था की गहरी चिंता है। गरीब लोग सबसे ज्यादा प्रभावित हैं। कम आय, कम नौकरियां, कम व्यापार और कम निवेश गरीब और मध्यम वर्ग को प्रभावित करते हैं। देश को इस गिरावट और निराशा से बाहर निकालने की योजना कहां है?' बता दें कि वरिष्ठ कांग्रेसी नेता पी चिदंबरम 5 सितंबर को तिहाड़ जेल में न्यायिक हिरासत पर भेज दिया गया था। उन्होने सीबीआई की 15 दिनों की रिमांड पूरी होने के बाद कोर्ट में जमानत याचिका डाली थी, जिसे न्यायालय ने उसे खारिज कर दिया था। हालांकि इस सब के बावजूद चिदंबरम ट्विटर की मदद से खुद पर लगे आरोपों और अर्थव्यवस्था पर अपना पक्ष रख रहे हैं। गौरतलब हो कि 3 सितंबर को सीबीआई की हिरासत के बारे में पूछे जाने पर भी चिदंबरम ने देश की अर्थव्यवस्था पर चिंता व्यक्त की थी। उन्होंने अप्रैल से जून के क्वार्टर में 5 प्रतिशत ग्रोथ रेट को शर्मनाक बताया। उन्होंने कहा कि 5 प्रतिशत, क्या है 5 प्रतिशत, आपको याद है 5 प्रतिशत?