पद्मावती विरोध ने लिया खूनी रूप, नाहरगढ़ किले पर लटका हुआ मिला युवक का शव

जयपुर। संजयलीला भंसाली की फिल्म पद्मावती का विरोध प्रदर्शन अब खूनी रूप लेता नज़र आ रहा है। राजस्थान के जयपुर के पास स्थित नाहरगढ़ किले की दीवाल पर एक शख्स की लाश लटकी हुई मिली है। शव के पास से सुसाइड लेटर भी बरामद हुआ है इसमें लिखा है कि यह शख्स स्क्रीनिंग के विरोध में पद्मावती का पुतला जलाए जाने से नाराज था। नोट के मुताबिक उसने कहा कि वह फिल्म पद्मावती को लेकर आत्महत्या कर रहा है। उसके शरीर पर लिखा था-पद्मावती का विरोध। हालांकि घटनास्थल पर एक पत्थर पर लिखा है-हम सिर्फ पुतले नहीं लटकाते। इससे शक मर्डर की ओर भी जाता है।

पुलिस मामले की जांच में जुट गई है और यह पता लगाने की कोशिश कर रही है कि यह आत्महत्या है या मर्डर। किले पर लटकती मिली लाश की पहचान जयपुर निवासी चेतन सैनी (40) के रूप में हुई है। पुलिस ने लाश को किले से उतारकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। हालांकि अभी भी पुलिस मामले की छानबीन में जुटी हैं।

{ यह भी पढ़ें:- चेतन सैनी ने की थी आत्महत्या, फोरेंसिक रिपोर्ट में हुआ बड़ा खुलासा }

बता दें, रणबीर और दीपिका स्टारर इस फिल्म का विरोध लंबे समय से देश के अलग-अलग हिस्सों में हो रहा है। इस वजह से फिल्म निर्माताओं ने इसकी रिलीज भी टाल दी है। पहले फिल्म 1 दिसंबर को रिलीज होनी थी। राजपूत समूह करणी सेना का कहना है कि फिल्म में इतिहास के तथ्यों के साथ छेड़छाड़ की गई है।

हालांकि फिल्म को ब्रिटेन में रिलीज की मंजूरी मिल गई है। यहां फिल्म बिना कोई दृश्य काटे दिखाई जाएगी। इसको लेकर लंदन में राजपूत समुदाय ब्रिटिश सेंसर बोर्ड के खिलाफ प्रदर्शन की योजना बना रहा है। हालांकि फिल्म के निर्माता वायकॉम18 का कहना है कि भारतीय सेंसर बोर्ड की मंजूरी के बिना इसे वैश्विक स्तर पर रिलीज करने की कोई योजना नहीं है। लंदन के राजपूत समाज ने ब्रिटिश सेंसर बोर्ड को पत्र लिखकर अपने फैसले पर पुनर्विचार करने को कहा है।

{ यह भी पढ़ें:- हियुवा ने फूंका भंसाली का पुतला }

Loading...