बालाकोट में आतंकियों का कैंप तबाह करने वाले पांच पायलटों को मिलेगा वायुसेना मेडल

air
बालाकोट में आतंकियों का कैंप तबाह करने वाले पांच पायलटों को मिलेगा वायुसेना मेडल

नई दिल्ली। पाकिस्तान में घुसकर आतंकियों का कैंप तबाह करने वाले वायुसेना के पायलटों को स्वतंत्रता दिवस के मौके पर सम्मानित किया जायेगा। स्वतंत्रता दिवस के मौके पर विंग कमांडर अमित रंजन, स्क्वॉर्डन लीडर राहुल बसोया, पंकज भुजडे, बीकेएन रेड्डी, शशांक सिंह को वीरता पदक दिया जाएगा। ये सभी अधिकारी मिराज 2000 लड़ाकू विमान के पायलट हैं।

Pakistan Balakot Air Strike Indian Air Force Pilots Vayu Sena Medal :

इन्होंने ही पाकिस्तान के बालाकोट शहर में जैश-ए-मोहम्मद आतंकवादी शिविर पर बमबारी की थी। गौरतलब है कि, जम्मू—कश्मीर के पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले पर हुए आतंकी हमले के बाद भारतीय वायुसेना ने बालाकोट में घुसरक एयर स्ट्राइक की थी। इस दौरान भारतीय वायुसेना ने जैश-ए-मोहम्मद के ठिकानों को तबाह किया था।

भारतीय वायुसेना की इस कार्रवाई में 250 से ज्यादा आतंकियों के मारे जाने की बात कही जा रही है। वायुसेना की इस कार्रवाई के बाद पाकिस्तान में हड़कंप मच गया था। पाकिस्तान इस पूरे मामले को छुपाने में जुटा रहा लेकिन आतंकियों को पनाह देने वाली उसकी तस्वीर चारो तरफ वायरल हो चुकी थी।

नई दिल्ली। पाकिस्तान में घुसकर आतंकियों का कैंप तबाह करने वाले वायुसेना के पायलटों को स्वतंत्रता दिवस के मौके पर सम्मानित किया जायेगा। स्वतंत्रता दिवस के मौके पर विंग कमांडर अमित रंजन, स्क्वॉर्डन लीडर राहुल बसोया, पंकज भुजडे, बीकेएन रेड्डी, शशांक सिंह को वीरता पदक दिया जाएगा। ये सभी अधिकारी मिराज 2000 लड़ाकू विमान के पायलट हैं। इन्होंने ही पाकिस्तान के बालाकोट शहर में जैश-ए-मोहम्मद आतंकवादी शिविर पर बमबारी की थी। गौरतलब है कि, जम्मू—कश्मीर के पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले पर हुए आतंकी हमले के बाद भारतीय वायुसेना ने बालाकोट में घुसरक एयर स्ट्राइक की थी। इस दौरान भारतीय वायुसेना ने जैश-ए-मोहम्मद के ठिकानों को तबाह किया था। भारतीय वायुसेना की इस कार्रवाई में 250 से ज्यादा आतंकियों के मारे जाने की बात कही जा रही है। वायुसेना की इस कार्रवाई के बाद पाकिस्तान में हड़कंप मच गया था। पाकिस्तान इस पूरे मामले को छुपाने में जुटा रहा लेकिन आतंकियों को पनाह देने वाली उसकी तस्वीर चारो तरफ वायरल हो चुकी थी।