पाक ने तोड़ा संघर्ष विराम, भारत ने दिया मुंहतोड़ जवाब

जम्मू। पाकिस्तानी सैनिकों ने राजौरी जिले में नियंतण्र रेखा के आसपास के इलाकों में रात भर गोलाबारी की जिसका भारतीय सैनिकों ने मुंहतोड़ जवाब दिया। इस सेक्टर में भारतीय और पाकिस्तानी सैनिकों के बीच 15 घंटों तक गोलीबारी हुई। रक्षा प्रवक्ता ने बताया, ‘‘हमारे सैनिकों ने उचित और मुंहतोड़ जवाब दिया।’ प्रवक्ता ने बताया कि रातभर भारी गोलाबारी होती रही और यह तड़के साढ़े तीन बजे बंद हो गई। उन्होंने बताया कि पाकिस्तान ने बिना उकसावे के भीमबर गली (बीजी) सेक्टर में कल शाम साढ़े चार बजे से संघर्ष विराम का उल्लंघन किया। पाकिस्तानी सैनिकों ने छोटे, स्वचालित हथियारों और 82 एमएम के मोटार्र बमों से भारतीय चौकियों को निशाना बनाया।




जम्मू-कश्मीर के कठुआ जिले में अंतरराष्ट्रीय सीमा पर रॉकेट वाले ग्रेनेडों (आरपीजी) की भारी गोलाबारी के बाद सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के जवानों ने छह आतंकवादियों के एक दल की घुसपैठ की कोशिश नाकाम कर दी। एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि सात करीब पौने बारह बजे कठुआ के बोबिया में चार से छह आतंकवादियों के एक दल ने अंतरराष्ट्रीय सीमा के इस पार आने की कोशिश की, उसने गश्ती वाले जवानों को लेकर जा रहे एक वाहन पर आरपीजी से हमला किया।

उधर, बीएसएफ ने अनूपगढ़ क्षेत्र में सीमा पार कर पाक से आए एक प्रशिक्षित बाज को पकड़ा है। बाज पर किसी प्रकार का ट्रांसमीटर या कैमरा नहीं लगा है, लेकिन उसके पांवों के पास घायल होने के निशानों से स्पष्ट हो रहा है कि ट्रांसमीटर बंधा हुआ था। संभवतया वह कहीं रास्ते में गिर गया। बीएसएफ ने इस घायल बाज को वन विभाग को सौंप दिया। इस क्षेत्र में पाकिस्तान ट्रेंड बाजों के माध्यम से कई बार जासूसी कर चुका है। श्रीगंगानगर सेक्टर के अनूपगढ़ क्षेत्र की अंतरराष्ट्रीय सीमा के निकट स्थित सूरमा सीमा चौकी पर तैनात बीएसएफ के जवानों ने गश्त के दौरान एक बाज को देखा। उन्होंने कड़ी मशक्कत के बाद इस बाज को पकड़ लिया। पांव में घाव होने के बावजूद यह बाज बड़ी मुश्किल से उनकी पकड़ में आया।