अब दूध के लिए तरस रही पाकिस्तानी जनता, 180 रुपये लीटर पहुंचा दाम

pakistan
अब दूध के लिए तरस रही पाकिस्तानी जनता, 180 रुपये लीटर पहुंचा दाम

नई दिल्ली। महंगाई की मार झेल रहे पाकिस्तान का संकट खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है। सब्जियों, पेट्रोल, डीजल आदि की ऊंची कीमतों के बाद अब जनता पर महंगे दूध की मार पड़ रही है। पाकिस्तान मे अब 120 रुपये लीटर तक पहुंच चुका है। खुदरा बाजार में दूध 100 से 180 रुपये लीटर तक बिक रहा है।

Pakistan Commodity Inflation People Milk Rs 180 Liters :

गौरतलब है कि पाकिस्तानी रुपये का वैल्यू भारतीय रुपये के मुकाबले करीब आधा ही है. महंगाई से पहले से ही त्रस्त पाकिस्तान की जनता इससे काफी गुस्से में है। पाकिस्तानी अखबार के अनुसार, एसोसिएशन ने कहा कि सरकार से उसने पहले कई बार अनुरोध किया था कि दाम बढ़ाया जाए, लेकिन सरकार की तरफ से कोई प्रतिक्रिया न मिलने पर उसे खुद यह निर्णय लेना पड़ा।

एसोसिएशन के एक पदाधिकारी ने कहा कि वे इस मामले में किसी दखल के लिए अधिकारियों से मिले थे, लेकिन उन्होंने कुछ नहीं किया. चारे का दाम कई गुना बढ़ चुका है और ईंधन की कीमतें भी काफी बढ़ गई हैं।

दूसरी तरफ, प्रशासन ने एसोसिएशन के इस कदम को गलत बताया है और महंगा दूध बेचने वाले खुदरा विक्रेताओं पर कार्रवाई की गई है। प्रशासन ने दूध के दाम 94 रुपये प्रति लीटर तय किया है। इसके बावजूद खुदरा विक्रेता 100 से 180 रुपये लीटर तक के रेट में दूध बेच रहे हैं।

प्रशासन ने कहा कि सभी डिप्टी कमिश्नर्स से कहा गया है कि वे महंगे दामों पर दूध बेचने वाले दुकानदारों के खिलाफ सख्त एक्शन लें। एक दुकानदार को इस मामले में गिरफ्तार भी किया गया है।

नई दिल्ली। महंगाई की मार झेल रहे पाकिस्तान का संकट खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है। सब्जियों, पेट्रोल, डीजल आदि की ऊंची कीमतों के बाद अब जनता पर महंगे दूध की मार पड़ रही है। पाकिस्तान मे अब 120 रुपये लीटर तक पहुंच चुका है। खुदरा बाजार में दूध 100 से 180 रुपये लीटर तक बिक रहा है।

गौरतलब है कि पाकिस्तानी रुपये का वैल्यू भारतीय रुपये के मुकाबले करीब आधा ही है. महंगाई से पहले से ही त्रस्त पाकिस्तान की जनता इससे काफी गुस्से में है। पाकिस्तानी अखबार के अनुसार, एसोसिएशन ने कहा कि सरकार से उसने पहले कई बार अनुरोध किया था कि दाम बढ़ाया जाए, लेकिन सरकार की तरफ से कोई प्रतिक्रिया न मिलने पर उसे खुद यह निर्णय लेना पड़ा।

एसोसिएशन के एक पदाधिकारी ने कहा कि वे इस मामले में किसी दखल के लिए अधिकारियों से मिले थे, लेकिन उन्होंने कुछ नहीं किया. चारे का दाम कई गुना बढ़ चुका है और ईंधन की कीमतें भी काफी बढ़ गई हैं।

दूसरी तरफ, प्रशासन ने एसोसिएशन के इस कदम को गलत बताया है और महंगा दूध बेचने वाले खुदरा विक्रेताओं पर कार्रवाई की गई है। प्रशासन ने दूध के दाम 94 रुपये प्रति लीटर तय किया है। इसके बावजूद खुदरा विक्रेता 100 से 180 रुपये लीटर तक के रेट में दूध बेच रहे हैं।

प्रशासन ने कहा कि सभी डिप्टी कमिश्नर्स से कहा गया है कि वे महंगे दामों पर दूध बेचने वाले दुकानदारों के खिलाफ सख्त एक्शन लें। एक दुकानदार को इस मामले में गिरफ्तार भी किया गया है।