पाकिस्तान के चुनाव आयोग ने निलंबित किए 260 निर्वाचित जनप्रतिनिधि

Pakistan
पाकिस्तान के चुनाव आयोग ने निलंबित किए 260 निर्वाचित जनप्रतिनिधि

Pakistan Election Commission Suspended More Than 260 Elected Members Of Different Houses

नई दिल्ली। पाकिस्तानी के 260 जनप्रतिनिधियों को चुनाव आयोग ने निलंबित कर दिया है, जिसमें प्रधानमंत्री के पद से हटाए गए नवाज शरीफ के दामाद का नाम भी शामिल बताया जा रहा है। यह कार्रवाई करते हुए आयोग की ओर से कहा ​गया है कि सभी सांसदों को अपनी संपत्ति और आय का ब्यौरा 30 सितंबर तक जमा करवाने का आदेश दिया था। जिसका पालन न किए जाने की वजह से सात सीनेटर, 71 एमएनए, पंजाब असेंबली के 84 सदस्य, सिंध असेंबली के 50 सदस्य, खैबर पख्तूख्वा के 38 सदस्य और बलूचिस्तान के 11 सदस्यों को निलंबित किया गया है।

मिली जानकारी के मुताबिक चुनाव आयोग ने जन-प्रतिनिधित्व कानून अधिनियम (ROPA) की उपधारा 42ए के तहत यह कार्रवाई की है। यह उपधारा कहती है कि सभी सांसदों व विधायकों को हर साल अपनी सभी परिसंपत्तियों व देनदारियों का विवरण प्रदान करना होगा।

पाकिस्तान में यह कानून तानाशाह परवेज मुशर्रफ ने लागू किया था। जिसे लागू करने के पीछे की वजह पाकिस्तान की राजनीति में व्याप्त भ्रष्टाचार पर रोक लगाना था। हालांकि अब तक यह अप्रभावी ही साबित हुआ है। निलंबित किए गए कई सांसदों ने इसे ‘टूथलेस’ या ‘अप्रभावी’ कहकर आलोचना की है, क्योंकि निर्वाचन आयोग को संपत्तियों का ब्योरा देकर कोई भी सांसद अपना निलंबन वापस करवा सकता है।

नई दिल्ली। पाकिस्तानी के 260 जनप्रतिनिधियों को चुनाव आयोग ने निलंबित कर दिया है, जिसमें प्रधानमंत्री के पद से हटाए गए नवाज शरीफ के दामाद का नाम भी शामिल बताया जा रहा है। यह कार्रवाई करते हुए आयोग की ओर से कहा ​गया है कि सभी सांसदों को अपनी संपत्ति और आय का ब्यौरा 30 सितंबर तक जमा करवाने का आदेश दिया था। जिसका पालन न किए जाने की वजह से सात सीनेटर, 71 एमएनए, पंजाब असेंबली के 84 सदस्य,…