पाक के विदेश मंत्री कुरैशी ने कहा- भारत की नई सरकार के साथ बातचीत के लिए हैं तैयार

qureshi
पाक के विदेश मंत्री कुरैशी ने कहा- भारत की नई सरकार के साथ बातचीत के लिए हैं तैयार

नई दिल्ली। पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी का कहना है कि वह भारत की नई सरकार के साथ बातचीत करके सभी अनसुलझे मुद्दों का हल निकालने के लिए तैयार हैं। सरकारी रेडियो पाकिस्तान की खबर के अनुसार कुरैशी ने शनिवार रात मुल्तान में एक इफ्तार पार्टी को संबोधित करते हुए कहा कि भारत और पाकिस्तान दोनों को क्षेत्र की समृद्धि और शांति के लिए बातचीत कर मुद्दों को सुलझाना चाहिए।

Pakistan Foreign Minister Shah Mehmood Qureshi Says We Are Ready To Hold Talks With New Indian Gover :

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने गुरुवार को मोदी की जीत पर उन्हें बधाई दी थी और क्षेत्र की शांति और समृद्धि के लिए मिलकर काम करने की इच्छा जताई थी। खान ने अंग्रेजी और उर्दू में ट्वीट किया था, ‘मैं भाजपा और सहयोगी दलों की जीत पर प्रधानमंत्री मोदी को बधाई देता हूं। दक्षिण एशिया में शांति, प्रगति और समृद्धि के लिए उनके साथ काम करने को लेकर आशान्वित हूं।’

खान ने अप्रैल में कहा था कि उन्हें विश्वास है कि अगर आम चुनाव में मोदी जीतते हैं तो भारत के साथ शांति वार्ता करने तथा कश्मीर मुद्दे के समाधान के लिए बेहतर अवसर मिल सकता है। भारत में आम चुनाव के नतीजे पाकिस्तान के लिए बहुत महत्वपूर्ण हैं क्योंकि नयी दिल्ली में नयी सरकार भारत-पाकिस्तान के संबंधों के भविष्य की दिशा पर विचार करेगी। पुलवामा आतंकी हमले के बाद दोनों देशों के संबंधों में दरार और बढ़ गयी थी।

बुधवार को लोकसभा चुनाव के नतीजों से एक दिन पहले ही सुषमा स्वराज और महमूद कुरैशी के बीच किर्गिस्तान के बिश्केक में विदेश मंत्रियों की शंघाई सहयोग संगठन परिषद की बैठक के मौके पर सुखद आदान-प्रदान किया। इस मुलाकात में कुरैशी ने यह संदेश दिया था कि पाकिस्तान दोनों देशों के बीच के मुद्दों को शांति से सुलझाना चाहता है।

बता दें कि 14 फरवरी को पाकिस्तानी आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद की तरफ से भारतीय सेना पर किए गए हमले के बाद तनाव काफी बढ़ गया था। इस हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए थे। इसके बाद भारत ने 26 फरवरी को जवाबी कार्रवाई में बालाकोट में स्थित जैश के एक ट्रेनिंग सेंटर को ध्वस्त कर दिया था।

नई दिल्ली। पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी का कहना है कि वह भारत की नई सरकार के साथ बातचीत करके सभी अनसुलझे मुद्दों का हल निकालने के लिए तैयार हैं। सरकारी रेडियो पाकिस्तान की खबर के अनुसार कुरैशी ने शनिवार रात मुल्तान में एक इफ्तार पार्टी को संबोधित करते हुए कहा कि भारत और पाकिस्तान दोनों को क्षेत्र की समृद्धि और शांति के लिए बातचीत कर मुद्दों को सुलझाना चाहिए। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने गुरुवार को मोदी की जीत पर उन्हें बधाई दी थी और क्षेत्र की शांति और समृद्धि के लिए मिलकर काम करने की इच्छा जताई थी। खान ने अंग्रेजी और उर्दू में ट्वीट किया था, ‘मैं भाजपा और सहयोगी दलों की जीत पर प्रधानमंत्री मोदी को बधाई देता हूं। दक्षिण एशिया में शांति, प्रगति और समृद्धि के लिए उनके साथ काम करने को लेकर आशान्वित हूं।' खान ने अप्रैल में कहा था कि उन्हें विश्वास है कि अगर आम चुनाव में मोदी जीतते हैं तो भारत के साथ शांति वार्ता करने तथा कश्मीर मुद्दे के समाधान के लिए बेहतर अवसर मिल सकता है। भारत में आम चुनाव के नतीजे पाकिस्तान के लिए बहुत महत्वपूर्ण हैं क्योंकि नयी दिल्ली में नयी सरकार भारत-पाकिस्तान के संबंधों के भविष्य की दिशा पर विचार करेगी। पुलवामा आतंकी हमले के बाद दोनों देशों के संबंधों में दरार और बढ़ गयी थी। बुधवार को लोकसभा चुनाव के नतीजों से एक दिन पहले ही सुषमा स्वराज और महमूद कुरैशी के बीच किर्गिस्तान के बिश्केक में विदेश मंत्रियों की शंघाई सहयोग संगठन परिषद की बैठक के मौके पर सुखद आदान-प्रदान किया। इस मुलाकात में कुरैशी ने यह संदेश दिया था कि पाकिस्तान दोनों देशों के बीच के मुद्दों को शांति से सुलझाना चाहता है। बता दें कि 14 फरवरी को पाकिस्तानी आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद की तरफ से भारतीय सेना पर किए गए हमले के बाद तनाव काफी बढ़ गया था। इस हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए थे। इसके बाद भारत ने 26 फरवरी को जवाबी कार्रवाई में बालाकोट में स्थित जैश के एक ट्रेनिंग सेंटर को ध्वस्त कर दिया था।