भारत में हमला कराने के लिए पाक ने दी 40 रोहिंग्याओं को आतंकी ट्रेनिंग, घुसपैठ कराने के लिए आईएसआई कर रहा मदद

terror training
भारत में हमला कराने के लिए पाक ने दी 40 रोहिंग्याओं को आतंकी ट्रेनिंग, घुसपैठ कराने के लिए आईएसआई कर रहा मदद

नई दिल्ली। भारत में हमला कराने के लिए पाकिस्तान 40 रोहिंग्या मुस्लिमों को आतंकी ट्रेनिंग दी है। पाक बांग्लादेश सीमा से भारत में एक बड़े आतंकी घुसपैठ कराने की तैयारी में लगा है। बांग्लादेशी खुफिया एंजेंसियों ने सीमा पर तैनात सुरक्षाबलों को इस बारे में आगाह किया है कि आने वाले वक्त में 40 रोहिंग्या मुस्लिम आतंकी भारत में घुसपैठ कर हमला कर सकते है।

Pakistan Gives 40 Rohingyas A Terror Training Isi Help To Infiltrate India :

पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई आतंकी संगठन जमात-उल-मुजाहिदीन ऑफ बांग्लादेश (जेएमबी) के जरिये ढाका के कॉक्स बाजार में रहने वाले रोहिंग्या मुसलमानों को आतंकी ट्रेनिंग देने में मदद कर रहा है। यह भी बताया जा रहा है कि आतंकियों को ट्रेनिंग देने के लिए आईएसआई रुपये भी दे रहा है।

खुफिया एजेंसी ने दावा किया है कि आईएसआई इसके लिए सउदी अरब और मलेशिया के रास्ते जमात-उल मुजाहिदीन को फंडिंग कर रहा है। पहली किस्त के तौर पर जमात को एक करोड़ टका मिल चुका है। यह जानकारी नेशनल इंटेलिजेंस एजेंसी को भी मुहैया कराई जा चुकी है।

बताया जा रहा है कि जम्मू कश्मीर में नियंत्रण रेखा पर चौकसी बढ़ाने के बाद पाकिस्तानी आतंकियों को घुसपैठ करना मुश्किल हो गया है। इसके बाद पाकिस्तान ने बांग्लादेश के रोहिंग्या मुसलमानों को इसके लिए चुना और उनकी ट्रेनिंग के लिए जमात-उल-मुजाहिदीन को मदद पहुंचानी शुरु की।

नई दिल्ली। भारत में हमला कराने के लिए पाकिस्तान 40 रोहिंग्या मुस्लिमों को आतंकी ट्रेनिंग दी है। पाक बांग्लादेश सीमा से भारत में एक बड़े आतंकी घुसपैठ कराने की तैयारी में लगा है। बांग्लादेशी खुफिया एंजेंसियों ने सीमा पर तैनात सुरक्षाबलों को इस बारे में आगाह किया है कि आने वाले वक्त में 40 रोहिंग्या मुस्लिम आतंकी भारत में घुसपैठ कर हमला कर सकते है। पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई आतंकी संगठन जमात-उल-मुजाहिदीन ऑफ बांग्लादेश (जेएमबी) के जरिये ढाका के कॉक्स बाजार में रहने वाले रोहिंग्या मुसलमानों को आतंकी ट्रेनिंग देने में मदद कर रहा है। यह भी बताया जा रहा है कि आतंकियों को ट्रेनिंग देने के लिए आईएसआई रुपये भी दे रहा है। खुफिया एजेंसी ने दावा किया है कि आईएसआई इसके लिए सउदी अरब और मलेशिया के रास्ते जमात-उल मुजाहिदीन को फंडिंग कर रहा है। पहली किस्त के तौर पर जमात को एक करोड़ टका मिल चुका है। यह जानकारी नेशनल इंटेलिजेंस एजेंसी को भी मुहैया कराई जा चुकी है। बताया जा रहा है कि जम्मू कश्मीर में नियंत्रण रेखा पर चौकसी बढ़ाने के बाद पाकिस्तानी आतंकियों को घुसपैठ करना मुश्किल हो गया है। इसके बाद पाकिस्तान ने बांग्लादेश के रोहिंग्या मुसलमानों को इसके लिए चुना और उनकी ट्रेनिंग के लिए जमात-उल-मुजाहिदीन को मदद पहुंचानी शुरु की।