1. हिन्दी समाचार
  2. खबरें
  3. करतारपुर कमेटी से पाकिस्तान ने खालिस्तान समर्थक को हटाया, भारत के दबाव में झुका

करतारपुर कमेटी से पाकिस्तान ने खालिस्तान समर्थक को हटाया, भारत के दबाव में झुका

By शिव मौर्या 
Updated Date

नई दिल्ली। भारत के दबाव में पाकिस्तान एक बार फिर झुकना पड़ा। यह उस दौरान हुआ जब भारत और पाकिस्तान के अधिकारियों के बीच करतारपुर कॉरिडोर को लेकर दूसरे राउंड की बातचीत होने जा रही है। भारत के दबाव में पाकिस्तान ने मुंबई हमले के मास्टरमाइंड हाफिज सईद के खास गुर्गे और खालिस्तान समर्थक गोपाल सिंह चावला को पाकिस्तान सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी से बाहर कर दिया है।

खालिस्तान समर्थक गोपाल सिंह चावला के करतारपुर कॉरिडोर के सदस्य होने पर भारत ने ऐतराज जताया था। इसको लेकर दो अप्रैल 2019 को होने वाली बातचीत को रद्दा कर दिया था। इसके बाद रविवार को अटारी—वाघा बॉर्डर पर होने वाली बैठक से पहले पाकिस्तान सरकार ने चावला को कमेटी से हटा दिया है। पीएसजीपीसी पाकिस्तान में स्थित सभी गुरुद्वारों की देखरेख करती है। जिसमें करतारपुर गुरुद्वारा और कॉरिडोर भी शामिल है।

पीएसजीपीसी सदस्यों से संबंधित अधिसूचना पाकिस्तान सरकार ने शुक्रवार देर रात जारी की है। नई अधिसूचना में पाकिस्तान के पंजाब प्रांत के चार सदस्य, उत्तरी खैबर पख्तूख्वा के तीन, सिंध के दो और बलूचिस्तान के एक सदस्य का नाम शामिल हैं।

अतीत में कई मौकों पर भारत ने पाकिस्तान के सिख तीर्थस्थलों में खालिस्तानी प्रचार को लेकर अपनी चिंता जाहिर की थ्री। संभावना है कि इस बार करतारपुर बातचीत के दौरान इस मुद्दे को दोबारा उठाया जाएगा। दूसरे राउंड की बातचीत मे भारत पाकिस्तान के सामने कई मुद्दों को उठाएगा। जिसमें अनुमति प्राप्त आगंतुकों की संख्या, बुनियादी ढांचे, तीर्थ यात्रियों की रक्षा और सुरक्षा शामिल होगी।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...