पाकिस्तान की नापाक साजिश, ताक-झाक के लिए बार्डर पर झंडे में लगाया कैमरा

Pakistan
पाकिस्तान के चुनाव आयोग ने निलंबित किए 260 निर्वाचित जनप्रतिनिधि

Pakistan Hoisted Largest Flag On Wagah Border On Eve Of Independence Day

नई दिल्ली। 14 अगस्त, 1947 की वह काली रात आज भी भारत आैर पाकिस्तान के कर्इ परिवारों को दंश मारता है, जब पाकिस्तान भारत से अलग होकर एक नया राष्ट्र बना था। सोमवार को पाकिस्तान ने अपना 70वां स्वतंत्रता दिवस मनाते हुए लाहौर के समीप वाघा-अटारी सीमा पर अपने इतिहास का सबसे बड़ा ध्वज फहराया। खास बात यह है कि पाकिस्तान ने साजिश के तहत इस झंडे में गुप्त कैमरे लगवाये है, जिसके माध्यम से पड़ोसियों की सीमा के अंदर ताक-झाक किया जा सके। बताया जा रहा है कि पाकिस्तान में बने इस ध्वज की लंबाई तथा चौड़ाई क्रमश: 120 फुट एवं 80 फुट है। इसकी लंबाई 400 फुट है। साथ ही, देश में स्वतंत्रता दिवस के जश्न की शुरुआत हो गयी।

इस मौके पर पाकिस्तान के सेना प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा ने एक बार फिर भारत को गीदड़ भभकी देने जैसा काम किया। बाजवा ने कहा कि हमने कई बलिदान दिये हैं, हम अपने शहीदों को कभी नहीं भूलेंगे। हम पाकिस्तान में प्रत्येक आतंकी का खात्मा करेंगे। हम अपने दुश्मनों को बताना चाहते हैं कि (चाहे वह पूर्व में हो या पश्चिम में) आपकी गोलियां खत्म हो जायेंगी, लेकिन हमारे जवान हमेशा मोर्चे पर रहेंगे।

उन्होंने पाकिस्तान की आंतरिक तथा बाहरी चुनौतियां के बारे में कहा, ‘मैं आपको आश्वासन देता हूं कि हम आपको कभी निराश नहीं करेंगे। ऐसी कोई भी शक्ति जिसका लक्ष्य पाकिस्तान, सेना तथा अन्य संस्थानों को कमजोर करना है। उनके प्रयासों को विफल किया जाएगा।’ इसके साथ ही अन्य वक्ताओं ने उन लोगों को भी श्रद्धांजलि दी जो बंटवारे के दौरान पाकिस्तान जाते समय मारे गए थे।’

नई दिल्ली। 14 अगस्त, 1947 की वह काली रात आज भी भारत आैर पाकिस्तान के कर्इ परिवारों को दंश मारता है, जब पाकिस्तान भारत से अलग होकर एक नया राष्ट्र बना था। सोमवार को पाकिस्तान ने अपना 70वां स्वतंत्रता दिवस मनाते हुए लाहौर के समीप वाघा-अटारी सीमा पर अपने इतिहास का सबसे बड़ा ध्वज फहराया। खास बात यह है कि पाकिस्तान ने साजिश के तहत इस झंडे में गुप्त कैमरे लगवाये है, जिसके माध्यम से पड़ोसियों की सीमा के अंदर…