यूरोपियन यूनियन की चेतावनी, ‘बलूचिस्तान में अत्याचार बंद करे पाक’

नई दिल्ली| यूरोप के कई देशों के संगठन यूरोपियन यूनियन ने पाकिस्तान पर आर्थिक और राजनीतिक प्रतिबंध लगाने की चेतावनी दी है| यूरोपियन यूनियन का कहना है कि यदि पाकिस्तान बलूचिस्तान के लोगों पर अत्याचार करना बंद नहीं करता है तो उसे प्रतिबन्ध झेलने को तैयार रहना होगा|




यूरोपियन पार्लियामेंट के वाइस प्रेसिडेंट रिजार्ड सी (Ryszard Czarnecki) ने कहा है कि जेनेवा में बलूच लोगों ने विरोध प्रदर्शन किया| जिसमें भारतीय पर्यटक भी शामिल हुए| रिजार्ड ने मारे गए ब्लूचियों को श्रद्धांजलि दी|

उन्होंने कहा, “पाकिस्तान को तुरंत बलूचियों पर हो रहे अत्याचार को रोकना चाहिए वरना उसपर आर्थिक और राजनीतिक प्रतिबंध लगाया जा सकता है| उन्होंने कहा कि पाकिस्तान के दो चेहरे हैं| एक साफ चेहरा जो वह दुनिया को दिखाता है और दूसरा क्रूर चेहरा जो मानवाधिकार को लेकर है|




रिजार्ड ने कहा कि पाकिस्तान की सबसे बड़ी समस्या यह है कि वहां की सरकार पर सेना का नियंत्रण है| उन्होंने कहा कि यूरोपीय संघ और बाकी के यूरोप के देशों को इस मामले में अब गंभीरता के विचार करने का वक्त आ गया है| इससे पहले भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी बलूचिस्तान का मुद्दा उठाया था| जिसके बाद कई बलूच नेताओं ने उन्हें धन्यवाद दिया था|