भारत से डरा पाकिस्तान, सीमा पर तनाव कम करने का रखा प्रस्ताव

tension on loc
भारत से डरा पाकिस्तान, सीमा पर तनाव कम करने का रखा प्रस्ताव

नई दिल्ली। भारत द्वारा लगातार की गई कार्रवाई से घबराकर पाकिस्तान ने अब एक प्रस्ताव रखा है। वो अब सीमा पर तनाव कम करने की बात कह रहा है। बताया जा रहा है कि भारत के तरफ से बढ़ते दबाव की वजह से पाकिस्तान ने मजबूरन ये फैसला लिया है। दरअसल, दोनों मुल्कों के बीच वार्ता के लिए बनाए गए संस्थागत सैन्य माध्यम के जरिए पाकिस्तान की सेना की ओर से भारत को इस बात के लिए प्रस्ताव भेजा गया है। जिसमें कहा गया कि पाकिस्तान सीमा पर तनाव करने को तैयार है।

Pakistan Offers Reduce Loc Tensions With India :

दोनों देशों के सैन्य अभियानों के महानिदेशक नियमित तौर पर एक-दूसरे से संपर्क में हैं। तभी सीमा पर तनाव को नियंत्रित करने का प्रस्ताव रखा गया। पाकिस्तान ने प्रस्ताव दिया है कि वह अपने स्पेशल सर्विस ग्रुप को नियंत्रण रेखा से हटाएगी। इस दौरान ये सुझाव भी दिया गया कि दोनों तरफ से गोलीबारी को बंद किया जाए। यह बात प्रधानमंत्री कार्यालय को भेजी गई रिपोर्ट में कही गई है।

बता दें कि जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में बीते 26 फरवरी को सीआरपीएफ के काफिले पर हमले के बाद भारतीय वायु सेना ने सीमा पार जाकर पाकिस्तान के बालाकोट में स्थित आतंकी शिविरों को तबाह कर दिया था। इस घटना के बाद पाकिस्तान ने भारत से लगती सभी सीमाओं और नियंत्रण रेखा पर एहतियातन स्पेशल फोर्सेस और सेना की टुकड़ी को तैनात कर दिया था।

नई दिल्ली। भारत द्वारा लगातार की गई कार्रवाई से घबराकर पाकिस्तान ने अब एक प्रस्ताव रखा है। वो अब सीमा पर तनाव कम करने की बात कह रहा है। बताया जा रहा है कि भारत के तरफ से बढ़ते दबाव की वजह से पाकिस्तान ने मजबूरन ये फैसला लिया है। दरअसल, दोनों मुल्कों के बीच वार्ता के लिए बनाए गए संस्थागत सैन्य माध्यम के जरिए पाकिस्तान की सेना की ओर से भारत को इस बात के लिए प्रस्ताव भेजा गया है। जिसमें कहा गया कि पाकिस्तान सीमा पर तनाव करने को तैयार है। दोनों देशों के सैन्य अभियानों के महानिदेशक नियमित तौर पर एक-दूसरे से संपर्क में हैं। तभी सीमा पर तनाव को नियंत्रित करने का प्रस्ताव रखा गया। पाकिस्तान ने प्रस्ताव दिया है कि वह अपने स्पेशल सर्विस ग्रुप को नियंत्रण रेखा से हटाएगी। इस दौरान ये सुझाव भी दिया गया कि दोनों तरफ से गोलीबारी को बंद किया जाए। यह बात प्रधानमंत्री कार्यालय को भेजी गई रिपोर्ट में कही गई है। बता दें कि जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में बीते 26 फरवरी को सीआरपीएफ के काफिले पर हमले के बाद भारतीय वायु सेना ने सीमा पार जाकर पाकिस्तान के बालाकोट में स्थित आतंकी शिविरों को तबाह कर दिया था। इस घटना के बाद पाकिस्तान ने भारत से लगती सभी सीमाओं और नियंत्रण रेखा पर एहतियातन स्पेशल फोर्सेस और सेना की टुकड़ी को तैनात कर दिया था।