आतंकवाद पर घिरे पाकिस्तान ने कहा, चुनाव के बाद बेहतर होंगे भारत और पाकिस्तान के रिश्ते

imran khan
आतंकवाद पर घिरे पाकिस्तान ने कहा, चुनाव के बाद बेहतर होंगे भारत और पाकिस्तान के रिश्ते

नई दिल्ली। पुलवामा में सीआपीएफ पर हुए आतंकी हमले के बाद से पाकिस्तान विश्व पटल पर बेनकाब हो चुका हैं। आतंक को संरक्षण देने वाला पाकिस्तान शांति की बात कर रहा है लेकिन वहां पल रहे आतंकवाद के खात्मे के लिए कोई कदम नहीं उठा रहा है।

Pakistan On Terrorism Said India And Pak Relations Will Be Better After Elections :

गुरूवार पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने कहा कि अगामी आम चुनावों के बाद भारत और पाकिस्तान के संबंध बेहतर होंगे। हालांकि कल विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने कहा था कि जब तक पाकिस्तान आतंकवाद के खिलाफ कार्रवाई नहीं करेगा उससे कोई बातचीत नहीं होगी।

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने गुरूवार को कहा कि आगामी आम चुनावों के बाद भारत सहित सभी पड़ोसी देशों के साथ उसके संबंध बेहतर होंगे। इमरान खान का दावा है कि शांती और प्रगति की राह में पहला कदम बढ़ाया है। हालां​कि आतंकवाद को संरक्षण देने के मुद्दे पर पाकिस्तान चौतरफा घिरा हुआ है।

पुलवामा में सीआरपीएफ पर आतंकी हमले के बाद आतंकी संगठन जैश—ए—मोहम्मद ने इसकी जिम्मेदारी ली थी। जैश—ए—मोहम्मद का सरगना पाकिस्तान में सेना के संरक्षण में रहता है। पुलवामा के इस हमले के बाद भारत और पाकिस्तान के रिश्तों के बीच और तनाव आ गया था।

बतातें चलें कि पाकिस्तान में एक समारोह में वीजा सुधारों की घोषणा करते हुए इमरान खान ने कहा कि पकिस्तान को विश्वास है कि उसने शांति और प्रगति की राह में कदम बढ़ाया है। पर्यटकों और निवेशकों का आकर्षित करने के प्रयासों के तहत ऑनलाइन वीजा सहित अन्य महत्वपूर्ण सुधारों की घोषणा करते हुए खान ने कहा, ‘उनके चुनावों के बाद, भारत सहित सभी पड़ोसियों के साथ पाकिस्तान के संबंध बेहतर होंगे।’

नई दिल्ली। पुलवामा में सीआपीएफ पर हुए आतंकी हमले के बाद से पाकिस्तान विश्व पटल पर बेनकाब हो चुका हैं। आतंक को संरक्षण देने वाला पाकिस्तान शांति की बात कर रहा है लेकिन वहां पल रहे आतंकवाद के खात्मे के लिए कोई कदम नहीं उठा रहा है।

गुरूवार पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने कहा कि अगामी आम चुनावों के बाद भारत और पाकिस्तान के संबंध बेहतर होंगे। हालांकि कल विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने कहा था कि जब तक पाकिस्तान आतंकवाद के खिलाफ कार्रवाई नहीं करेगा उससे कोई बातचीत नहीं होगी।

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने गुरूवार को कहा कि आगामी आम चुनावों के बाद भारत सहित सभी पड़ोसी देशों के साथ उसके संबंध बेहतर होंगे। इमरान खान का दावा है कि शांती और प्रगति की राह में पहला कदम बढ़ाया है। हालां​कि आतंकवाद को संरक्षण देने के मुद्दे पर पाकिस्तान चौतरफा घिरा हुआ है।

पुलवामा में सीआरपीएफ पर आतंकी हमले के बाद आतंकी संगठन जैश—ए—मोहम्मद ने इसकी जिम्मेदारी ली थी। जैश—ए—मोहम्मद का सरगना पाकिस्तान में सेना के संरक्षण में रहता है। पुलवामा के इस हमले के बाद भारत और पाकिस्तान के रिश्तों के बीच और तनाव आ गया था।

बतातें चलें कि पाकिस्तान में एक समारोह में वीजा सुधारों की घोषणा करते हुए इमरान खान ने कहा कि पकिस्तान को विश्वास है कि उसने शांति और प्रगति की राह में कदम बढ़ाया है। पर्यटकों और निवेशकों का आकर्षित करने के प्रयासों के तहत ऑनलाइन वीजा सहित अन्य महत्वपूर्ण सुधारों की घोषणा करते हुए खान ने कहा, 'उनके चुनावों के बाद, भारत सहित सभी पड़ोसियों के साथ पाकिस्तान के संबंध बेहतर होंगे।'