पाक पीएम ने किया ट्वीट- सिद्धू को निशाना बनाने वाले अमन को नुकसान पहुंचा रहे

imran-khan
पुलवामा अटैक पर PAK पीएम का बयान, बोले- 'हम आतंक पर बात करने को तैयार'

नई दिल्ली। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने क्रिकेटर से राजनेता बने नवजोत सिंह सिद्धू को उनके शपथ ग्रहण समारोह में उपस्थित होने के लिए मंगलवार को धन्यवाद दिया और भारत में उन्हें निशाना बनाने वालों को उपमहाद्वीप में शांति को भारी नुकसान पहुंचाने वाला करार दिया। सिद्धू पिछले सप्ताह खान के शपथ ग्रहण के दौरान पाकिस्तानी सेनाप्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा से गले मिलने को लेकर भारत में आलोचना झेल रहे हैं।

Pakistan Pm Imran Khan Says Supports Navjot Singh Sidhu :

नवनिर्वाचित प्रधानमंत्री ने सिद्धू का बचाव करते हुए ट्वीट किया, “मैं सिद्धू का धन्यवाद करता हूं कि वह मेरे शपथ ग्रहण समारोह के लिए पाकिस्तान आए। वह शांति दूत थे और उन्हें यहां पाकिस्तान के लोगों द्वारा प्यार और सम्मान दिया गया। जो भी लोग भारत में उन्हें निशाना बना रहे हैं, वे उपमहाद्वीप में शांति को भारी नुकसान पहुंचा रहे हैं। बिना शांति के हमारे लोग प्रगति नहीं कर सकते।”

खान ने भारत से आह्वान किया कि विवादों को बातचीत के माध्यम से हल किया जा सकता है। उन्होंने कहा, आगे बढ़ने के लिए पाकिस्तान और भारत को बातचीत करनी चाहिए और कश्मीर समेत अपने टकरावों को हल करना चाहिए। गरीबी को हराने और उपमहाद्वीप के लोगों के जीवनस्तर को ऊपर उठाने का सबसे बेहतर तरीका बातचीत के माध्यम से हमारे मतभेदों को हल करना और व्यापार शुरू करना है।

सिद्धू ने अपने पाकिस्तान दौरे के दौरान आशा जताई थी कि पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ के प्रमुख की जीत दो पड़ोसियों के बीच शांति प्रक्रिया के लिए अच्छी साबित होगी।

नई दिल्ली। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने क्रिकेटर से राजनेता बने नवजोत सिंह सिद्धू को उनके शपथ ग्रहण समारोह में उपस्थित होने के लिए मंगलवार को धन्यवाद दिया और भारत में उन्हें निशाना बनाने वालों को उपमहाद्वीप में शांति को भारी नुकसान पहुंचाने वाला करार दिया। सिद्धू पिछले सप्ताह खान के शपथ ग्रहण के दौरान पाकिस्तानी सेनाप्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा से गले मिलने को लेकर भारत में आलोचना झेल रहे हैं। नवनिर्वाचित प्रधानमंत्री ने सिद्धू का बचाव करते हुए ट्वीट किया, "मैं सिद्धू का धन्यवाद करता हूं कि वह मेरे शपथ ग्रहण समारोह के लिए पाकिस्तान आए। वह शांति दूत थे और उन्हें यहां पाकिस्तान के लोगों द्वारा प्यार और सम्मान दिया गया। जो भी लोग भारत में उन्हें निशाना बना रहे हैं, वे उपमहाद्वीप में शांति को भारी नुकसान पहुंचा रहे हैं। बिना शांति के हमारे लोग प्रगति नहीं कर सकते।" खान ने भारत से आह्वान किया कि विवादों को बातचीत के माध्यम से हल किया जा सकता है। उन्होंने कहा, आगे बढ़ने के लिए पाकिस्तान और भारत को बातचीत करनी चाहिए और कश्मीर समेत अपने टकरावों को हल करना चाहिए। गरीबी को हराने और उपमहाद्वीप के लोगों के जीवनस्तर को ऊपर उठाने का सबसे बेहतर तरीका बातचीत के माध्यम से हमारे मतभेदों को हल करना और व्यापार शुरू करना है। सिद्धू ने अपने पाकिस्तान दौरे के दौरान आशा जताई थी कि पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ के प्रमुख की जीत दो पड़ोसियों के बीच शांति प्रक्रिया के लिए अच्छी साबित होगी।