राजनाथ सिंह के बयान पर घबराए इमरान, कहा- दुनिया रखे भारत के परमाणु हथियार पर नजर

imran khan
कश्मीर मुद्दा : अफगानिस्तान ने फिर की पाकिस्तान की खिंचाई, कही ये बात

नई दिल्ली। पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (पीओके) को लेकर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह के बयान के बाद पाकिस्तान डर गया है। राजनाथ के बयान के बाद पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने दुनिया से मदद की गुहार लगाई है। इमरान खान ने चिंता जताते हुए अंतर्राष्ट्रीय समुदाय से इस पर संज्ञान लेने की अपील की है। इमरान खान अब कह रहे हैं कि दुनिया भारत के परमाणु हथियार पर नजर रखे।

Pakistan Pm Imran Khan Tweets On Rajnath Singh Nuclear Policy Statement :

इमरान खान ने ट्विटर पर कहा है कि फासीवादी और नस्लवादी हिंदू वर्चस्व वाली मोदी सरकार के नियंत्रण में भारत के परमाणु हथियार की सुरक्षा पर गंभीर विचार करने की जरूरत है। इमरान ने गृहमंत्री अमित शाह के उस बयान को दोहराया, जिसमें उन्होंने कहा कि पीओके और अक्साई चीन कश्मीर का हिस्सा है। खान ने सिलसिलेवार ट्वीट में कहा कि भारत में मुस्लिमों को मताधिकार से वंचित किया जा रहा है और आरएसएस (राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ) के गुंडे उपद्रव मचा रहे हैं।

इमरान ने ट्वीट में कहा, “भारत का परमाणु हथियार हिंदू वर्चस्ववादी व फासीवादी नेतृत्व के नियंत्रण में हैं। इसकी सुरक्षा पर दुनिया गंभीरता से विचार करे, क्योंकि इसका प्रभाव केवल क्षेत्र में ही सीमित नहीं रहेगा, बल्कि पूरी दुनिया पर पड़ेगा।” उन्होंने ट्वीट में कहा, “भारत पर हिंदू वर्चस्ववादी विचारधारा और नेतृत्व ने उसी तरह कब्जा कर लिया है, जिस तरह जर्मनी पर नाजियों ने किया था।”

5 अगस्त को मोदी सरकार के जम्मू-कश्मीर के विशेषाधिकार से जुड़े अनुच्छेद-370 को बदलने के फैसले के बाद से पाकिस्तान लगातार बयानबाजी कर रहा है लेकिन अंतरराष्ट्रीय मंच या दुनिया के किसी भी देश से उसे कोई मदद हासिल नहीं हो पा रही है।

बता दें कि कल रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा था कि पाकिस्तान के साथ बातचीत तब तक संभव नहीं है जब तक वह आतंकवाद को सहयोग देना और उसको बढ़ावा देना बंद नहीं करता है। राजनाथ सिंह ने कहा कि अगर पाकिस्तान से बातचीत होगी तो केवल पीओके पर होगी।

नई दिल्ली। पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (पीओके) को लेकर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह के बयान के बाद पाकिस्तान डर गया है। राजनाथ के बयान के बाद पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने दुनिया से मदद की गुहार लगाई है। इमरान खान ने चिंता जताते हुए अंतर्राष्ट्रीय समुदाय से इस पर संज्ञान लेने की अपील की है। इमरान खान अब कह रहे हैं कि दुनिया भारत के परमाणु हथियार पर नजर रखे। इमरान खान ने ट्विटर पर कहा है कि फासीवादी और नस्लवादी हिंदू वर्चस्व वाली मोदी सरकार के नियंत्रण में भारत के परमाणु हथियार की सुरक्षा पर गंभीर विचार करने की जरूरत है। इमरान ने गृहमंत्री अमित शाह के उस बयान को दोहराया, जिसमें उन्होंने कहा कि पीओके और अक्साई चीन कश्मीर का हिस्सा है। खान ने सिलसिलेवार ट्वीट में कहा कि भारत में मुस्लिमों को मताधिकार से वंचित किया जा रहा है और आरएसएस (राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ) के गुंडे उपद्रव मचा रहे हैं। इमरान ने ट्वीट में कहा, "भारत का परमाणु हथियार हिंदू वर्चस्ववादी व फासीवादी नेतृत्व के नियंत्रण में हैं। इसकी सुरक्षा पर दुनिया गंभीरता से विचार करे, क्योंकि इसका प्रभाव केवल क्षेत्र में ही सीमित नहीं रहेगा, बल्कि पूरी दुनिया पर पड़ेगा।" उन्होंने ट्वीट में कहा, "भारत पर हिंदू वर्चस्ववादी विचारधारा और नेतृत्व ने उसी तरह कब्जा कर लिया है, जिस तरह जर्मनी पर नाजियों ने किया था।" 5 अगस्त को मोदी सरकार के जम्मू-कश्मीर के विशेषाधिकार से जुड़े अनुच्छेद-370 को बदलने के फैसले के बाद से पाकिस्तान लगातार बयानबाजी कर रहा है लेकिन अंतरराष्ट्रीय मंच या दुनिया के किसी भी देश से उसे कोई मदद हासिल नहीं हो पा रही है। बता दें कि कल रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा था कि पाकिस्तान के साथ बातचीत तब तक संभव नहीं है जब तक वह आतंकवाद को सहयोग देना और उसको बढ़ावा देना बंद नहीं करता है। राजनाथ सिंह ने कहा कि अगर पाकिस्तान से बातचीत होगी तो केवल पीओके पर होगी।