भारत की बढ़ती सैन्य ताकत से बौखलाया PAK, UN में उठाया मुद्दा

भारत की बढ़ती सैन्य ताकत से बौखलाया PAK, UN में उठाया मुद्दा
भारत की बढ़ती सैन्य ताकत से बौखलाया PAK, UN में उठाया मुद्दा

नई दिल्ली। भारत की बढ़ती सैन्य ताकत से पाकिस्तान बौखलाया हुआ है। पाकिस्तान की बौखलाहट फिर तब देखी गई जब उसने नाम लिए बगैर अमेरिका और रूस समेत कई देशों द्वारा नई दिल्ली को लगातार हथियार बेचे जाने के मुद्दा संयुक्त राष्ट्र में उठाया।

Pakistan Raised Indian Defence Purchase Issue With United Nations :

आतंकियों से हमदर्दी रखने वाले पाकिस्तान ने भारत को ‘दोहरा मानक’ अपनाने वाला बताया है। संयुक्त राष्ट्र स्थित पाकिस्तानी मिशन में प्रथम सचिव जहांजेब खान ने सोमवार को निरस्त्रीकरण से निपटने वाली महासभा की समिति में पारंपरिक हथियारों पर बहस के दौरान भारत पर निशाना साधा। उन्होंने कहा, ‘संकीर्ण सामरिक, राजनीतिक और व्यावसायिक विचारों के आधार पर दक्षिण एशिया के लिए दोहरा मानक वाली नीति का त्याग किया जाना चाहिए।’

हालांकि उन्होंने सधे हुए अंदाज में भारत या भारत को हथियार बेचने वाले किसी भी देश का नाम नहीं लिया। जहांजेब ने कहा, दक्षिण एशिया में एक देश का सैन्य खर्च काफी हद तक दूसरे देशों से ज्यादा है। इसमें अस्थिरता को बढ़ावा देने और पहले से नाजुक क्षेत्रीय संतुलन को खतरे में डालने की क्षमता है।

उन्होंने आगे कहा, इस्लामाबाद विशेष रूप से अशांत क्षेत्रों में बढ़ते पारंपरिक हथियारों के हस्तांतरण से चिंतित है, जो शांति, सुरक्षा और स्थिरता बनाए रखने की अनिवार्यता से उलट है। पाकिस्तान अपनी ओर से दक्षिण एशिया में रणनीतिक शांति बनाए रखने के लिए प्रतिबद्ध है, जिसमें पारंपरिक बल संतुलन का एक तत्व भी शामिल है।

जानिए, क्यों उड़ी है पाकिस्तान की नींद

आपको बता दें कि पिछले महीने भारत और अमेरिका के बीच COMCASA डील हुई है, जिससे कई आधुनिक हथियार और सैन्य तकनीक मिलने का रास्ता साफ हो गया है। इसके अलावा अमेरिका कई अडवांस्ड मिलिट्री जेट्स और दूसरे हथियार भारत को दे रहा है।

यही नहीं, हाल में भारत ने अमेरिकी प्रतिबंधों को दरकिनार करते हुए रूस के साथ आधुनिक S400 मिसाइल डिफेंस सिस्टम फाइनल की थी। इसकी अनुमानित लागत 5 अरब डॉलर है। इजरायल से भी भारत ने हाल में कई प्रमुख डिफेंस डील की है। इन सबसे पाकिस्तान की नींद उड़ी हुई है।

नई दिल्ली। भारत की बढ़ती सैन्य ताकत से पाकिस्तान बौखलाया हुआ है। पाकिस्तान की बौखलाहट फिर तब देखी गई जब उसने नाम लिए बगैर अमेरिका और रूस समेत कई देशों द्वारा नई दिल्ली को लगातार हथियार बेचे जाने के मुद्दा संयुक्त राष्ट्र में उठाया।आतंकियों से हमदर्दी रखने वाले पाकिस्तान ने भारत को ‘दोहरा मानक’ अपनाने वाला बताया है। संयुक्त राष्ट्र स्थित पाकिस्तानी मिशन में प्रथम सचिव जहांजेब खान ने सोमवार को निरस्त्रीकरण से निपटने वाली महासभा की समिति में पारंपरिक हथियारों पर बहस के दौरान भारत पर निशाना साधा। उन्होंने कहा, ‘संकीर्ण सामरिक, राजनीतिक और व्यावसायिक विचारों के आधार पर दक्षिण एशिया के लिए दोहरा मानक वाली नीति का त्याग किया जाना चाहिए।’हालांकि उन्होंने सधे हुए अंदाज में भारत या भारत को हथियार बेचने वाले किसी भी देश का नाम नहीं लिया। जहांजेब ने कहा, दक्षिण एशिया में एक देश का सैन्य खर्च काफी हद तक दूसरे देशों से ज्यादा है। इसमें अस्थिरता को बढ़ावा देने और पहले से नाजुक क्षेत्रीय संतुलन को खतरे में डालने की क्षमता है।उन्होंने आगे कहा, इस्लामाबाद विशेष रूप से अशांत क्षेत्रों में बढ़ते पारंपरिक हथियारों के हस्तांतरण से चिंतित है, जो शांति, सुरक्षा और स्थिरता बनाए रखने की अनिवार्यता से उलट है। पाकिस्तान अपनी ओर से दक्षिण एशिया में रणनीतिक शांति बनाए रखने के लिए प्रतिबद्ध है, जिसमें पारंपरिक बल संतुलन का एक तत्व भी शामिल है।

जानिए, क्यों उड़ी है पाकिस्तान की नींद

आपको बता दें कि पिछले महीने भारत और अमेरिका के बीच COMCASA डील हुई है, जिससे कई आधुनिक हथियार और सैन्य तकनीक मिलने का रास्ता साफ हो गया है। इसके अलावा अमेरिका कई अडवांस्ड मिलिट्री जेट्स और दूसरे हथियार भारत को दे रहा है।यही नहीं, हाल में भारत ने अमेरिकी प्रतिबंधों को दरकिनार करते हुए रूस के साथ आधुनिक S400 मिसाइल डिफेंस सिस्टम फाइनल की थी। इसकी अनुमानित लागत 5 अरब डॉलर है। इजरायल से भी भारत ने हाल में कई प्रमुख डिफेंस डील की है। इन सबसे पाकिस्तान की नींद उड़ी हुई है।