1. हिन्दी समाचार
  2. बलूचों से डरा पाकिस्तान,PM इमरान के आदेश पर ट्विटर और जूम को किया गया बंद

बलूचों से डरा पाकिस्तान,PM इमरान के आदेश पर ट्विटर और जूम को किया गया बंद

Pakistan Scared Of Baloch Twitter And Zoom Closed On Orders Of Pm Imran

By रवि तिवारी 
Updated Date

पाकिस्तान के कई इलाकों में सोशल मीडिया वेबसाइट ट्विटर और वीडियो स्ट्रिमिंग वेबसाइट जूम को कई घंटों तक ब्लॉक करके रखा गया। मिली जानकारी के अनुसार, देर रात पाकिस्तान सरकार ने दोनों ही वेबसाइटों पर से ब्लॉक को हटाने का आदेश दिया और जल्द ही ब्लॉक को हटा लिया गया।

पढ़ें :- बड़बोली कंगना रनौत का एक और बड़ा बयान, कहा- उन्होंने जिया को मार डाला सुशांत को मार डाला...

माना जा रहा है कि पाकिस्तान सरकार की तरफ से यह कदम इसलिए उठाया गया था क्योंकि हाल ही में पाकिस्तान में बलूचों के ऊपर हो रहे अत्याचारों को लेकर ‘साथ वर्चुअल कॉन्फ्रेंस’ का आयोजन किया गया। इससे प्रधानमंत्री इमरान खान और पाकिस्तानी सेना डर गई और उसने ट्विटर और जूम को ब्लॉक कर दिया।

बलूचिस्तान पोस्ट की खबर के मुताबिक, उसकी वीडियो स्ट्रिमिंग सर्विस पेरिस्कोप, ट्विटर अकाउंट, वर्चुअल वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग वेबसाइट जूम को कई घंटों तक ब्लॉक करके रखा गया। बताया गया कि इन दोनों ही वेबसाइट पर पाकिस्तान के कुछ चुनिंदा इलाकों में ही रोक लगाई गई थी। इसके अलावा अन्य क्षेत्रों में लोग इन वेबसाइट पर एक्सेस कर पा रहे थे।

राजनीतिक विश्लेषकों की माने तो, उनका कहना है कि बलूचों के ऊपर पाकिस्तान सरकार और सेना द्वारा अत्याचार की खबरें सामने आती रहती हैं। इसे लेकर ‘साथ वर्चुअल कॉन्फ्रेंस’ का आयोजन किया जा रहा था, जिससे पाक सरकार और सेना डर गई और उन्होंने ट्विटर और जूम को कई घंटों तक के लिए बंद कर दिया। बता दें कि, ‘साथ फोरम’ की स्थापना अमेरिका में पूर्व राजदूत हुसैन हक्कानी और स्तंभकार मोहम्मद ताकी ने की है।

दरअसल, रविवार को साथ फोरम ने एलान किया था कि वे लोग वर्चुअल कॉन्फ्रेंस का आयोजन करेंगे, जिसमें बलूच पत्रकार सज्जाद हुसैन और पश्तून तहाफुज मुवमेंट के नेता आरिफ वजीर की रहस्यमय परिस्थितयों में हुई हत्या को लेकर चर्चा की जाएगी।

पढ़ें :- इस शहर मे है दुनिया का सबसे बड़ा मंदिर, जानिए क्या है खास

इस फोरम में बलूचों के प्रमुख नेता, नबी बख्श बलोच, गुल बुखारी, अहमद वकास गोराया, ताहा सिद्दीकी समेत कई चर्चित लोग शामिल होने वाले थे। गोराया ने इमरान सरकार पर आरोप लगाया कि अधिकारियों ने देश में जूम को ब्लॉक किया है ताकि पाकिस्तानी नागरिक इस कॉन्फ्रेंस से न जुड़ पाएं।

हालांकि, गोराया ने कहा कि इस कॉन्फ्रेंस का वीडियो जारी किया जाएगा, जिससे जनता इस कॉन्फ्रेंस को देख पाएगी। बलोच नेताओं की तरफ से आरोप लगाए जाने के बाद सरकार ने ट्विटर और जूम पर लगाए गए रोक को हटा लिया। सरकार की तरफ से इस प्रतिबंध को लागू करने की कोई आधिकारिक वजह नहीं बताई गई है।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...