पाक ने हमारे राष्ट्रीय नेतृत्व को हमेशा कम आंका- वायुसेना प्रमुख

IAF
पाक ने हमारे राष्ट्रीय नेतृत्व को हमेशा कम आंका- वायुसेना प्रमुख

नई दिल्ली। भारतीय वायुसेना के प्रमुख एयर चीफ मार्शल बीरेंद्र सिंह धनोआ ने शुक्रवार को कहा कि कई बार मात खाने के बाद भी पाकिस्तान ने हमेशा से भारत के राष्ट्रीय नेतृत्व को कम करके आंका है। बालाकोट एयर स्ट्राइक के दौरान भी पाकिस्तान ने यही किया था।
एक कार्यक्रम में भारतीय वायु सेना प्रमुख धनोआ ने कहा कि 1965 के युद्ध में भी पा​क ने तत्कालीन पीएम लाल बहादुर शास्त्री को कमतर आंका था। लेकिन तब भारतीय सेना लाहौर तक पहुंच गई थी।
वायुसेना प्रमुख ने कहा कि कारगिल युद्ध में वे एक बार फिर हैरान रह गए। उन्होंने कभी नहीं सोचा था कि हम अपनी सारी ताकत झोंक देंगे और बोफोर्स तोपों का मुंह उनकी ओर कर दिया जाएगा।

Pakistan Underestimated Our National Leadership :

वायुसेना प्रमुख ने कहा कि उनका अनुमान हमेशा गलत साबित हुआ। यहां तक कि पुलवामा हमले के बाद पाकिस्तान ने फिर गलत अनुमान लगाया कि हमारा राजनीतिक नेतृत्व बालाकोट हमले की इजाजत नहीं देगा। ऐसा नहीं है कि हमारी वायु सेना सक्षम नहीं है। वे हमारी क्षमताएं बखूबी जानते हैं लेकिन वे हमेशा इस गलतफहमी में रहते हैं कि हमारा नेतृत्व कार्रवाई नहीं करेगा।

एयर चीफ मार्शल धनोआ इस महीने के अंत में सेवानिवृत्त होने वाले हैं। वह वायुसेना के 25वें प्रमुख हैं और उन्होंने दिसंबर 2016 में यह पद संभाला था। एयर चीफ मार्शल धनोआ की जगह एयर मार्शल आर के एस भदौरिया लेंगे जिन्हें हाल ही में वायुसेना का अगला प्रमुख नामित किया गया है।

नई दिल्ली। भारतीय वायुसेना के प्रमुख एयर चीफ मार्शल बीरेंद्र सिंह धनोआ ने शुक्रवार को कहा कि कई बार मात खाने के बाद भी पाकिस्तान ने हमेशा से भारत के राष्ट्रीय नेतृत्व को कम करके आंका है। बालाकोट एयर स्ट्राइक के दौरान भी पाकिस्तान ने यही किया था। एक कार्यक्रम में भारतीय वायु सेना प्रमुख धनोआ ने कहा कि 1965 के युद्ध में भी पा​क ने तत्कालीन पीएम लाल बहादुर शास्त्री को कमतर आंका था। लेकिन तब भारतीय सेना लाहौर तक पहुंच गई थी। वायुसेना प्रमुख ने कहा कि कारगिल युद्ध में वे एक बार फिर हैरान रह गए। उन्होंने कभी नहीं सोचा था कि हम अपनी सारी ताकत झोंक देंगे और बोफोर्स तोपों का मुंह उनकी ओर कर दिया जाएगा। वायुसेना प्रमुख ने कहा कि उनका अनुमान हमेशा गलत साबित हुआ। यहां तक कि पुलवामा हमले के बाद पाकिस्तान ने फिर गलत अनुमान लगाया कि हमारा राजनीतिक नेतृत्व बालाकोट हमले की इजाजत नहीं देगा। ऐसा नहीं है कि हमारी वायु सेना सक्षम नहीं है। वे हमारी क्षमताएं बखूबी जानते हैं लेकिन वे हमेशा इस गलतफहमी में रहते हैं कि हमारा नेतृत्व कार्रवाई नहीं करेगा। एयर चीफ मार्शल धनोआ इस महीने के अंत में सेवानिवृत्त होने वाले हैं। वह वायुसेना के 25वें प्रमुख हैं और उन्होंने दिसंबर 2016 में यह पद संभाला था। एयर चीफ मार्शल धनोआ की जगह एयर मार्शल आर के एस भदौरिया लेंगे जिन्हें हाल ही में वायुसेना का अगला प्रमुख नामित किया गया है।