पाकिस्तान ने शुरु की संघर्ष की तैयारी, अस्पतालों को किया अलर्ट

pulwama attack
पाकिस्तान ने शुरु की संघर्ष की तैयारी, अस्पतालों को किया अलर्ट

नई दिल्ली। जम्मू-कश्मीर हमले के बाद से भारत की तरफ से लगातार हो रहे एक्शन को देखते हुए पाकिस्तान ने भी संघर्ष की तैयारी शुरु कर दी है। युद्ध के मोर्चों पर अपनी तैयारी करते हुए सभी अस्पतालों को भी हाई अलर्ट कर दिया। वहीं पाकिस्तान की इस तैयारी को देख आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के मुखिया मसूद अजहर ने पाकिस्तानी सरकार से कहा है कि वो भारत के किसी दबाव में न झुके।

Pakistani Army Begins Preparations After Pulwama Attack For Conflict Tells Hospital To Be Ready :

बता दें कि दो आधिकारिक दस्तावेजों से इस बात का खुलासा हुआ कि पाकिस्तान अलग-अलग मोर्चों पर तैयारी में जुटा है। इस दस्तावेजों में से एक बलूचिस्तान स्थित मिलिटरी बेस का है, जबकि पाकिस्तानी कब्जे वाले कश्मीर (पीओके) में स्थानीय प्रशासन को एक नोटिस भेजा गया है। इन दोनों पत्रों से साफ जाहिर होता है कि पाकिस्तान ने जंग की तैयारियां जोर—शोर से शुरु कर दी है।

बता दें कि क्वेटा कैंटोन्मेंट स्थित पाकिस्तानी सेना के बेस हेडक्वॉर्टर्स क्वेटा लॉजिलस्टिक्स एरिया ने जिलानी अस्पताल को एक पत्र लिखा है, जिसमें जिसमें भारत से युद्ध की संभावना जाहिर करते हुए चिकित्सकीय मदद के लिए इंतजाम करने का आदेश दिया गया है।

नई दिल्ली। जम्मू-कश्मीर हमले के बाद से भारत की तरफ से लगातार हो रहे एक्शन को देखते हुए पाकिस्तान ने भी संघर्ष की तैयारी शुरु कर दी है। युद्ध के मोर्चों पर अपनी तैयारी करते हुए सभी अस्पतालों को भी हाई अलर्ट कर दिया। वहीं पाकिस्तान की इस तैयारी को देख आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के मुखिया मसूद अजहर ने पाकिस्तानी सरकार से कहा है कि वो भारत के किसी दबाव में न झुके। बता दें कि दो आधिकारिक दस्तावेजों से इस बात का खुलासा हुआ कि पाकिस्तान अलग-अलग मोर्चों पर तैयारी में जुटा है। इस दस्तावेजों में से एक बलूचिस्तान स्थित मिलिटरी बेस का है, जबकि पाकिस्तानी कब्जे वाले कश्मीर (पीओके) में स्थानीय प्रशासन को एक नोटिस भेजा गया है। इन दोनों पत्रों से साफ जाहिर होता है कि पाकिस्तान ने जंग की तैयारियां जोर—शोर से शुरु कर दी है। बता दें कि क्वेटा कैंटोन्मेंट स्थित पाकिस्तानी सेना के बेस हेडक्वॉर्टर्स क्वेटा लॉजिलस्टिक्स एरिया ने जिलानी अस्पताल को एक पत्र लिखा है, जिसमें जिसमें भारत से युद्ध की संभावना जाहिर करते हुए चिकित्सकीय मदद के लिए इंतजाम करने का आदेश दिया गया है।