भारत की सर्जिकल स्ट्राइक से डरकर भाग खड़े हुए थे पाकिस्तानी सैनिक, 5 की हुई थी मौत

नई दिल्ली| जम्मू-कश्मीर के उरी में हुए आतंकी हमले बाद भारतीय सेना द्वारा पीओके में घुसकर की गई सर्जिकल स्ट्राइक में आतंकियों के साथ-साथ पांच पाकिस्तानी सैनिक भी मारे गए थे| सर्जिकल स्ट्राइक के दौरान आतंकियों के साथ पाकिस्तानी सेना के जवान भी मौजूद थे| इतना ही नहीं अचानक हुए कामांडो आपरेशन से पाकिस्तानी जवान अपनी जान बचाकर भाग खड़े हुए थे|

यह जानकारी गुलाम कश्मीर में मौजूद एक पाकिस्तानी पुलिस अफसर ने दी| पाकिस्तानी अफसर को लगा कि वह अपने पाकिस्तानी अधिकारी से बात कर रहा है जबकि वह एक भारतीय पत्रकार से बात कर रहा था|




समाचार चैनल के संपादक मनोज गुप्ता ने कहा कि गुलाम कश्मीर के मीरपुर क्षेत्र के एसपी (विशेष शाखा) गुलाम अकबर ने बताया कि 29 सितंबर की रात को पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में अलसुबह कई सेक्टरों में भारतीय सेना की ओर से गोलीबारी हुई| गुप्ता से हो रही बातचीत के दौरान गुलाम अकबर ने बताया कि पाकिस्तानी फौज को भारतीय सैन्य कार्रवाई की बिलकुल भी भनक नहीं लगी| लिहाजा, इस हमले में पाकिस्तान के पांच फौजी मारे गए|

संपादक गुप्ता ने अकबर से आइजी मुश्ताक बनकर बात की और रात में हुए हमले में मारे गए पाकिस्तानी लोगों के बारे में ब्योरा मांगा| अकबर ने बताया,”मैं जानता हूं कि पिछली रात कई हमले हुए| भींबेर के सामाना, पूंछ के हजिरा, नीलम के दुधनिआल और हथियान बाला के कयानी में भारतीय फौज के हमले हुए| अकबर ने बताया कि भारतीय सेना के हमले के साथ ही पाकिस्तानी फौज पीछे हट गई थी|”



Loading...