आतंकी हाफिज सईद ने UN में दायर की याचिका, आतंकियों की लिस्ट से नाम हटाने की मांग

hafiz-saeed1

नई दिल्ली। मुंबई हमले के मास्टरमाइंड और हाल ही में पाकिस्तानी कोर्ट द्वारा बरी किए जाने के बाद लश्कर-ए-तैयबा संस्थापक हाफिज सईद ने संयुक्त राष्ट्र में एक याचिका दाखिल की है। याचिका में आतंकी सरगना हाफिज सईद ने मांग की है कि आतंकियों की लिस्ट से उसका नाम हटा दिया जाए। यह याचिका उसने अपने नजरबंद रहने के दौरान दायर कराई थी।

Pakistani Terrorist Hafiz Saeed Went United Nations For Exclusion Of His Name Form Terrorist List :

यह याचिका लाहौर के एक लॉ फर्म मिर्जा एंड मिर्जा के माध्यम से दाखिल करवाई है। याचिका दाखिल करने वाले नावेद रसूल मिर्जा पाकिस्तान के नेशनल अकाउंटिबिलिटी ब्यूरो में वकील रह चुके हैं। हाफिज सईद जनवरी से नजरबंद था। पाकिस्तान सरकार ने शुक्रवार को उसे किसी दूसरे मामले में गिरफ्तार करने के बजाय रिहा करने का फैसला किया था।

आपको बता दें कि आतंकी हाफिज सईद को संयुक्त राष्ट्र ने नवंबर 2008 में हुए मुबंई हमलों के बाद यूएनएससीटी 1267 (यूएन सिक्यॉरिटी काउंसिल रेजॉलूशन) के तहत दिसंबर 2008 में आतंकी घोषित किया था। यही नहीं अमेरिका ने लश्कर सरगना हाफिज सईद पर एक करोड़ डॉलर (64.50 करोड़ रुपया) का इनाम घोषित कर रखा है।

अमेरिका ने कहा कह जब तक पाकिस्‍तान हाफिज सईद को जल्‍द से जल्‍द कानूनी प्रक्रिया के तहत बंदी नहीं बनाता और उसके अपराधों पर अंकुश नहीं लगाता तब तक दोनों देशों की रिश्‍तों को आगे नहीं बढ़ाया जा सकता है।

नई दिल्ली। मुंबई हमले के मास्टरमाइंड और हाल ही में पाकिस्तानी कोर्ट द्वारा बरी किए जाने के बाद लश्कर-ए-तैयबा संस्थापक हाफिज सईद ने संयुक्त राष्ट्र में एक याचिका दाखिल की है। याचिका में आतंकी सरगना हाफिज सईद ने मांग की है कि आतंकियों की लिस्ट से उसका नाम हटा दिया जाए। यह याचिका उसने अपने नजरबंद रहने के दौरान दायर कराई थी।यह याचिका लाहौर के एक लॉ फर्म मिर्जा एंड मिर्जा के माध्यम से दाखिल करवाई है। याचिका दाखिल करने वाले नावेद रसूल मिर्जा पाकिस्तान के नेशनल अकाउंटिबिलिटी ब्यूरो में वकील रह चुके हैं। हाफिज सईद जनवरी से नजरबंद था। पाकिस्तान सरकार ने शुक्रवार को उसे किसी दूसरे मामले में गिरफ्तार करने के बजाय रिहा करने का फैसला किया था।आपको बता दें कि आतंकी हाफिज सईद को संयुक्त राष्ट्र ने नवंबर 2008 में हुए मुबंई हमलों के बाद यूएनएससीटी 1267 (यूएन सिक्यॉरिटी काउंसिल रेजॉलूशन) के तहत दिसंबर 2008 में आतंकी घोषित किया था। यही नहीं अमेरिका ने लश्कर सरगना हाफिज सईद पर एक करोड़ डॉलर (64.50 करोड़ रुपया) का इनाम घोषित कर रखा है।अमेरिका ने कहा कह जब तक पाकिस्‍तान हाफिज सईद को जल्‍द से जल्‍द कानूनी प्रक्रिया के तहत बंदी नहीं बनाता और उसके अपराधों पर अंकुश नहीं लगाता तब तक दोनों देशों की रिश्‍तों को आगे नहीं बढ़ाया जा सकता है।