लंदन में भारतीय उच्चायोग की इमारत पर कायर पाकिस्तानियों ने फेंके अंडे-पत्थर

लंदन में भारतीय उच्चायोग की इमारत पर कायर पाकिस्तानियों ने फेंके अंडे-पत्थर
लंदन में भारतीय उच्चायोग की इमारत पर कायर पाकिस्तानियों ने फेंके अंडे-पत्थर

नई दिल्ली। कश्मीर को लेकर एक बार फिर पाकिस्तानी मूल के नागरिकों ने लंदन में हिंसक प्रदर्शन किया। दरअसल, पूरे ब्रिटेन से करीब 10 हजार पाकिस्तानी मंगलवार को लंदन पहुंचे जहां उन्होने भारतीय उच्चायोग को निशाना बनाया। नापाक प्रदर्शनकारियों ने उच्चायोग की इमारत पर अंडे, टमाटर, स्मोक बम और पत्थर फेंके जिससे वहां की खिड़कियों नुकसान पहुंचा। हालांकि लंदन में ऐसा दूसरी बार हुआ है। इससे पहले 15 अगस्त को उच्चायोग में स्वतंत्रता दिवस मना रहे भारतीयों पर भी ऐसा कायराना हमला किया गया था।

Pakistanis Protest Again In London Front Of Indian High Commission :

भारतीय उच्चायोग ने प्रदर्शन की फोटो शेयर करते हुए अपने ट्वीट में लिखा- ‘लंदन में भारतीय उच्चायोग के सामने दूसरी बार हिंसक प्रदर्शन किया गया।’ बता दे कि उनके विरोध में भारतीय मूल के युवकों ने कोई प्रदर्शन नहीं किया। कुछ ब्रिटिश लेबर सांसदों के नेतृत्व में ‘कश्मीर फ्रीडम मार्च’ निकाला गया, जो पार्लियामेंट स्क्वेयर से उच्चायोग की इमारत तक गया। प्रदर्शनकारियों के हाथ में पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (पीओके) के झंडे और बैनर थे। उनका कहना था कि कश्मीर में लॉकडाउन बंद करो, हम आजादी चाहते हैं।

पाकिस्तान मूल के लंदन के मेयर सादिक खान ने प्रदर्शन की निंदा करते हुए अपने ट्वीट में कहा कि- ‘मैं इस तरह के अस्वीकार किए जाने वाले व्यवहार की निंदा करता हूं।’

नई दिल्ली। कश्मीर को लेकर एक बार फिर पाकिस्तानी मूल के नागरिकों ने लंदन में हिंसक प्रदर्शन किया। दरअसल, पूरे ब्रिटेन से करीब 10 हजार पाकिस्तानी मंगलवार को लंदन पहुंचे जहां उन्होने भारतीय उच्चायोग को निशाना बनाया। नापाक प्रदर्शनकारियों ने उच्चायोग की इमारत पर अंडे, टमाटर, स्मोक बम और पत्थर फेंके जिससे वहां की खिड़कियों नुकसान पहुंचा। हालांकि लंदन में ऐसा दूसरी बार हुआ है। इससे पहले 15 अगस्त को उच्चायोग में स्वतंत्रता दिवस मना रहे भारतीयों पर भी ऐसा कायराना हमला किया गया था। भारतीय उच्चायोग ने प्रदर्शन की फोटो शेयर करते हुए अपने ट्वीट में लिखा- 'लंदन में भारतीय उच्चायोग के सामने दूसरी बार हिंसक प्रदर्शन किया गया।' बता दे कि उनके विरोध में भारतीय मूल के युवकों ने कोई प्रदर्शन नहीं किया। कुछ ब्रिटिश लेबर सांसदों के नेतृत्व में ‘कश्मीर फ्रीडम मार्च’ निकाला गया, जो पार्लियामेंट स्क्वेयर से उच्चायोग की इमारत तक गया। प्रदर्शनकारियों के हाथ में पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (पीओके) के झंडे और बैनर थे। उनका कहना था कि कश्मीर में लॉकडाउन बंद करो, हम आजादी चाहते हैं। पाकिस्तान मूल के लंदन के मेयर सादिक खान ने प्रदर्शन की निंदा करते हुए अपने ट्वीट में कहा कि- 'मैं इस तरह के अस्वीकार किए जाने वाले व्यवहार की निंदा करता हूं।'