चीन को भारत के खिलाफ भड़काने के लिए PAK ने चली नई चाल

modi
चीन को भारत के खिलाफ भड़काने के लिए PAK ने चली नई चाल

नई दिल्ली। भारत के खिलाफ पड़ोसी मुल्क चीन को भड़काने के लिए पाकिस्तान ने नई चाल चली है। अपने मददगार चीन को भारत के खिलाफ भड़काने के लिए पाकिस्तान ने नया शिगूफा छोड़ा है। पाकिस्तानी पुलिस ने शुक्रवार को भारत की खुफिया एजेंसी रिसर्च एंड एनालिसिस विंग (RAW) यानी ‘रॉ’ पर नवंबर में कराची स्थित चीन के वाणिज्य दूतावास पर हुए आतंकी हमले में शामिल होने का आरोप लगाया है, जिसे भारत ने मनगढ़ंत और झूठा बताते हुए खारिज कर दिया है।

Pakistans New Propaganda Against India Connects With The Attack On Chinese Consulate In Karachi :

पीएम नरेंद्र मोदी और चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग दोनों नेताओं ने द्विपक्षीय रिश्तों को नया आयाम देने की कोशिशें की हैं। शायद पाकिस्तान को रिश्तों की यही गर्मजोशी चुभ रही है और उसने दोस्ती में दरार डालने के लिए यह चाल चली है। पाक मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक शुक्रवार को कराची पुलिस चीफ डॉ. अमीर अहमद शेख ने दावा किया कि कराची स्थित चीनी मिशन पर हुए हमले की साजिश अफगानिस्तान में रची गई थी और इसमें भारत की खुफिया एजेंसी रिसर्च ऐंड अनैलेसिस विंग (RAW) ने मदद की थी।

भारत ने कहा, अपने गिरेबान में झांके पाकिस्तान

पाकिस्तान के इस दावे पर विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने नई दिल्ली में तीखी प्रतिक्रिया दी। उन्होंने कहा, हमने पाकिस्तानी मीडिया में कराची पुलिस चीफ के बयान को देखा है, जिसमें भारत के खिलाफ आतंकी हमले के झूठे आरोप लगाए गए हैं। उन्होंने कहा, हम इन मनगढ़ंत आरोपों को खारिज करते हैं। ऐसी आतंकी घटनाओं के लिए दूसरों पर अंगुली उठाने के बजाय पाकिस्तान को अपने गिरेबान में झांकने की जरूरत है और अपनी सीमाओं में आतंकवाद व आतंकी ढांचे को समर्थन देने वालों के खिलाफ विश्वसनीय कार्रवाई करनी चाहिए।

नई दिल्ली। भारत के खिलाफ पड़ोसी मुल्क चीन को भड़काने के लिए पाकिस्तान ने नई चाल चली है। अपने मददगार चीन को भारत के खिलाफ भड़काने के लिए पाकिस्तान ने नया शिगूफा छोड़ा है। पाकिस्तानी पुलिस ने शुक्रवार को भारत की खुफिया एजेंसी रिसर्च एंड एनालिसिस विंग (RAW) यानी 'रॉ' पर नवंबर में कराची स्थित चीन के वाणिज्य दूतावास पर हुए आतंकी हमले में शामिल होने का आरोप लगाया है, जिसे भारत ने मनगढ़ंत और झूठा बताते हुए खारिज कर दिया है।पीएम नरेंद्र मोदी और चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग दोनों नेताओं ने द्विपक्षीय रिश्तों को नया आयाम देने की कोशिशें की हैं। शायद पाकिस्तान को रिश्तों की यही गर्मजोशी चुभ रही है और उसने दोस्ती में दरार डालने के लिए यह चाल चली है। पाक मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक शुक्रवार को कराची पुलिस चीफ डॉ. अमीर अहमद शेख ने दावा किया कि कराची स्थित चीनी मिशन पर हुए हमले की साजिश अफगानिस्तान में रची गई थी और इसमें भारत की खुफिया एजेंसी रिसर्च ऐंड अनैलेसिस विंग (RAW) ने मदद की थी।

भारत ने कहा, अपने गिरेबान में झांके पाकिस्तान

पाकिस्तान के इस दावे पर विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने नई दिल्ली में तीखी प्रतिक्रिया दी। उन्होंने कहा, हमने पाकिस्तानी मीडिया में कराची पुलिस चीफ के बयान को देखा है, जिसमें भारत के खिलाफ आतंकी हमले के झूठे आरोप लगाए गए हैं। उन्होंने कहा, हम इन मनगढ़ंत आरोपों को खारिज करते हैं। ऐसी आतंकी घटनाओं के लिए दूसरों पर अंगुली उठाने के बजाय पाकिस्तान को अपने गिरेबान में झांकने की जरूरत है और अपनी सीमाओं में आतंकवाद व आतंकी ढांचे को समर्थन देने वालों के खिलाफ विश्वसनीय कार्रवाई करनी चाहिए।