PAK सरकार को अमेरिका का झटका, सैन्‍य प्रशिक्षण पर लगाई रोक

PAK सरकार को अमेरिका का झटका, सैन्‍य प्रशिक्षण पर लगाई रोक
PAK सरकार को अमेरिका का झटका, सैन्‍य प्रशिक्षण पर लगाई रोक

नई दिल्ली। आतंकी संगठनों पर कार्रवाई करने में विफल रहे पाकिस्तान पर अमेरिका के ट्रंप प्रशासन की सख्ती में लगातार इजाफा हो रहा है। इसने एक दशक से ज्यादा समय से जारी पाकिस्तानी सैन्य अधिकारियों को गुप्त रूप से दिया जाने वाला प्रशिक्षण और शैक्षणिक कार्यकमों पर रोक लगाना शुरू कर दिया है। इन कार्यक्रमों को दोनों देशों के बीच घनिष्ठ सहयोग का उदाहरण माना जाता था।

Pakistans Shock To Us Government Ban On Military Training :

फिलहाल की ट्रंप प्रशासन की इस घोषणा के बाद के पेंटागन की तरफ से किसी भी प्रकार प्रतिक्रिया नहीं आई है। हालांकि, अमेरिका अधिकारियों ने ट्रंप प्रशासन के इस फैसला की आलोचना की है। वहीं, पाकिस्तान के अधिकारियों का कहना है कि ट्रंप प्रशासन के इस कदम से वे सैन्य मदद के लिए रूस और चीन की तरफ मुड़ेंगे। एक राज्य विभाग के प्रवक्ता ने न्यूज एजेंसी रॉयटर्स से कहा कि अमेरिकी सरकार के अंतर्राष्ट्रीय सैन्य शिक्षा और प्रशिक्षण कार्यक्रम (आईएमईटी) से पाकिस्तान का प्रभावी निलंबन इस साल 66 पाकिस्तानी अधिकारियों के लिए अलग-अलग जगहों को बंद कर देगा।

ट्रंप प्रशासन ने इस साल की शुरुआत में घोषणा की थी कि अफगानिस्तान के मुद्दे पर मतभेदों के चलते वह पाकिस्तान को दी जाने वाली वित्तीय सहायता रोक रहा है। लेकिन संकेत दिया था कि सैन्य अधिकारियों के लिए प्रशिक्षण कार्यक्रम जारी रहेगा। पाकिस्तानी अधिकारियों के लिए निर्धारित स्लॉट को रद्द करने से पता चलता है कि फंड का रोका जाना अब प्रशिक्षण कार्यक्रमों पर भी लागू होता है।

नई दिल्ली। आतंकी संगठनों पर कार्रवाई करने में विफल रहे पाकिस्तान पर अमेरिका के ट्रंप प्रशासन की सख्ती में लगातार इजाफा हो रहा है। इसने एक दशक से ज्यादा समय से जारी पाकिस्तानी सैन्य अधिकारियों को गुप्त रूप से दिया जाने वाला प्रशिक्षण और शैक्षणिक कार्यकमों पर रोक लगाना शुरू कर दिया है। इन कार्यक्रमों को दोनों देशों के बीच घनिष्ठ सहयोग का उदाहरण माना जाता था।फिलहाल की ट्रंप प्रशासन की इस घोषणा के बाद के पेंटागन की तरफ से किसी भी प्रकार प्रतिक्रिया नहीं आई है। हालांकि, अमेरिका अधिकारियों ने ट्रंप प्रशासन के इस फैसला की आलोचना की है। वहीं, पाकिस्तान के अधिकारियों का कहना है कि ट्रंप प्रशासन के इस कदम से वे सैन्य मदद के लिए रूस और चीन की तरफ मुड़ेंगे। एक राज्य विभाग के प्रवक्ता ने न्यूज एजेंसी रॉयटर्स से कहा कि अमेरिकी सरकार के अंतर्राष्ट्रीय सैन्य शिक्षा और प्रशिक्षण कार्यक्रम (आईएमईटी) से पाकिस्तान का प्रभावी निलंबन इस साल 66 पाकिस्तानी अधिकारियों के लिए अलग-अलग जगहों को बंद कर देगा।ट्रंप प्रशासन ने इस साल की शुरुआत में घोषणा की थी कि अफगानिस्तान के मुद्दे पर मतभेदों के चलते वह पाकिस्तान को दी जाने वाली वित्तीय सहायता रोक रहा है। लेकिन संकेत दिया था कि सैन्य अधिकारियों के लिए प्रशिक्षण कार्यक्रम जारी रहेगा। पाकिस्तानी अधिकारियों के लिए निर्धारित स्लॉट को रद्द करने से पता चलता है कि फंड का रोका जाना अब प्रशिक्षण कार्यक्रमों पर भी लागू होता है।