PAK कोर्ट का ‘सुप्रीम’ फैसला, नवाज़ शरीफ के राजनीतिक करियर पर लगा आजीवन ब्रेक

nawaz-sharif , राजनीतिक
PAK कोर्ट का 'सुप्रीम' फैसला, नवाज़ शरीफ के राजनीतिक करियर पर लगा आजीवन ब्रेक
इस्लामाबाद। पाकिस्तान सुप्रीम कोर्ट के फैसले ने वहां की राजनीति में हलचल मचा दी है। कोर्ट ने पनामा पेपर में फंसे नवाज शरीफ को उम्रभर के लिए अयोग्य करार दिया है। सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को अपनी सुनवाई में नवाज शरीफ को हमेशा के लिए सरकारी कार्यालय संभालने में अयोग्य ठहराया है। सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि अगर किसी शख्स को संविधान की धारा 62 (1)(एफ) के तहत अयोग्य ठहरा दिया है तो वह जिंदगीभर के लिए अयोग्य रहेगा। इसी…

इस्लामाबाद। पाकिस्तान सुप्रीम कोर्ट के फैसले ने वहां की राजनीति में हलचल मचा दी है। कोर्ट ने पनामा पेपर में फंसे नवाज शरीफ को उम्रभर के लिए अयोग्य करार दिया है। सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को अपनी सुनवाई में नवाज शरीफ को हमेशा के लिए सरकारी कार्यालय संभालने में अयोग्य ठहराया है। सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि अगर किसी शख्स को संविधान की धारा 62 (1)(एफ) के तहत अयोग्य ठहरा दिया है तो वह जिंदगीभर के लिए अयोग्य रहेगा।

इसी साल फरवरी में पाकिस्तानी सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि संविधान के अनुच्छेद 62 और 63 के तहत अयोग्य ठहराया गया कोई भी व्यक्ति राजनीतिक पार्टी का मुखिया नहीं रह सकता। जिसके बाद नवाज शरीफ पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज के अध्यक्ष भी नहीं रह पाए थे। ‘डॉन न्यूज’ के मुताबिक, 5 जजों की बेंच ने सर्वसम्मित से यह आदेश दिया। चीफ जस्टिस ऑफ पाकिस्तान साकिब निसार ने आदेश से पहले कहा, ‘जनता को अच्छे चरित्र वाले नेताओं की जरूरत है।’

{ यह भी पढ़ें:- PAK के पूर्व PM नवाज शरीफ पर छात्र ने फेंका जूता }

बता दें कि पनामा पेपर्स केस में सुप्रीम कोर्ट ने पिछले साल 68 वर्षीय शरीफ को पीएम पद के लिए अयोग्य ठहरा दिया था। पूर्व पीएम को संविधान के अनुच्छेद 62 के तहत अपनी सैलरी को असेट के तौर पर घोषित नहीं करने का दोषी पाया गया था।

{ यह भी पढ़ें:- तीसरी शादी पर बोले इमरान खान- शादी ही कर रहा हूं, दुश्मन मुल्क से दोस्ती नहीं }

Loading...