फर्जीवाड़ा: एक ही पैन कार्ड पर चल रहा 180 फ़र्मों का कारोबार, लाखों की टैक्स चोरी

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के कई जिलों में पैन कार्ड के खेल का बड़ा फर्जीवाड़ा सामने आया है। जांच में इस बात का खुलासा हुआ है कि सूबे के 29 जिलों में कई ऐसी फ़र्मे हैं जो एक ही पैन कार्ड पर अपना कारोबार चला रही है। वाणिज्य कर मुख्यालय ने ऐसी 200 फ़र्मों की सूची तैयार की है। अब इन फर्मों की जांच की तैयारी की जा रही है।

प्रमुख सचिव वाणिज्य कर ने इन सभी फ़र्मों के कारोबार व पैन नंबरों के मिलान के निर्देश दिये हैं। इन सभी फ़र्मों की विस्तृत जांच के साथ फर्जीवाड़ा करने वालों का पंचीकरण रद्द करने के साथ ही जुर्माना भी लगाया जाएगा। बता दें कि व्यापारियों व वाणिज्य कर विभाग के अधिकारियों के द्वारा धड़ल्ले से टैक्स चोरी का खेल चल रहा है, जिससे विभाग को लाखों रुपये के टैक्स चोरी का चूना लगाया जा चुका है।




हाल ही में मुख्यालय के निर्देश पर जब सभी जोन में जांच अभियान चलाया गया तो इस बात का खुलासा हुआ कि प्रदेश के 29 जिलों में करीब 180 फ़र्में एक ही पैन नंबर पर कारोबार कर रही हैं। इसमें लाखों रुपये की टैक्स चोरी का अनुमान लगाया गया है। जांच में इस बात का खुलासा हुआ कि ऐसी फ़र्में सबसे ज्यादा रामपुर और देवरिया में पंचीकृत हैं। इस खेल के खुलासे के बाद विभाग के आला अधिकारी भी सकते में हैं। फिलहाल सभी जोन को निर्देश दिये गए हैं कि व्यापारियों के पैन कार्ड का सत्यापन कराएं।




इन जिलों में चल रहा है खेल–

देवरिया, रामपुर, गोरखपुर, बरेली, इटावा, हमीरपुर, कानपुर देहात, कानपुर नगर, अमेठी, अमरोहा, कुशीनगर, सहारनपुर, गौतमबुधनगर, गोंडा, बुलंदशहर, रायबरेली, कन्नौज, सुल्तानपुर, गाजीपुर, अलीगढ़, मऊ, सोनभद्र, इलाहाबाद, गाजियाबाद, आजमगढ़, बस्ती, मेरठ, जौनपुर और वाराणसी।