1. हिन्दी समाचार
  2. एस्ट्रोलोजी
  3. पंचांग: रविवार, 22 मई 2022

पंचांग: रविवार, 22 मई 2022

यह पृष्ठ 22 मई, 2022 को तिथि, नक्षत्र, अच्छा और बुरा समय आदि दिखाता है।

By प्रीति कुमारी 
Updated Date

पंचांग: रविवार, 22 मई 2022
विक्रम संवत – 2079, राक्षस :
शक संवत – 1944, शुभकृतो
पूर्णिमांता – ज्येष्ठ :
अमंत मास – वैशाख

पढ़ें :- 27 जून 2022 का पंचांग: जाने आज का पंचांग, शुभ मुहूर्त और नक्षत्र की चाल के बारे में ...

तिथि
कृष्ण पक्ष सप्तमी – 21 मई 02:59 अपराह्न – 22 मई 01:00 अपराह्न
कृष्ण पक्ष अष्टमी – 22 मई 01:00 अपराह्न – 23 मई 11:34 पूर्वाह्न

नक्षत्र
धनिष्ठा – 21 मई 11:46 अपराह्न – 22 मई 10:47 अपराह्न
शतभिषा – 22 मई 10:47 अपराह्न – 23 मई 10:22 अपराह्न

करण
बावा – 22 मई 01:55 पूर्वाह्न – 22 मई 01:00 अपराह्न
बलवा – 22 मई 01:00 अपराह्न – 23 मई 12:13 पूर्वाह्न
कौलवा – 23 मई 12:13 पूर्वाह्न – 23 मई 11:34 पूर्वाह्न

योग
इंद्र – 22 मई 05:21 पूर्वाह्न – 23 मई 02:59 पूर्वाह्न
वैधृति – 23 मई 02:59 पूर्वाह्न – 24 मई 01:05 पूर्वाह्न

पढ़ें :- Shakun Shastra: सावन मास में असहाय वंचितों को दान देने का अनंत गुना फल प्राप्त होता है, जानिए इस मास में करने वाले शुभ कार्य

वारा
रविवर (रविवार)

त्यौहार और व्रत
कालाष्टमी

सूर्य और चंद्रमा का समय
सूर्योदय – 5:47 AM
सूर्यास्त – शाम 6:59 बजे
चंद्रोदय – 22 मई 12:35 AM
चंद्रास्त – मई 23 12:49 अपराह्न

अशुभ काल
राहु – 5:21 अपराह्न – 7:00 अपराह्न
यमगंडा – 12:23 अपराह्न – 2:02 अपराह्न
गुलिका – 3:42 अपराह्न – 5:21 अपराह्न
दुर मुहूर्त – 05:14 अपराह्न – 06:07 अपराह्न
वर्ज्यम – 05:51 पूर्वाह्न – 07:25 पूर्वाह्न

शुभ मुहूर्त
अभिजीत मुहूर्त – 11:57 पूर्वाह्न – 12:49 अपराह्न
अमृत ​​काल – 12:48 अपराह्न – 02:20 अपराह्न
ब्रह्म मुहूर्त – 04:10 पूर्वाह्न – 04:58 पूर्वाह्न

पढ़ें :- Vastu Tips : घर में दर्पण को लेकर ये बात जानना जरूरी है, जानिए वास्तु नियम

आनंददी योग
मतंगा तक – 10:47 अपराह्न
राक्षस

सूर्या रसी
वृषभ (वृषभ) में सूर्य

चंद्र रासी
कुंभ राशि में प्रवेश करने से पहले चंद्रमा 22 मई, 11:12 पूर्वाह्न तक मकर राशि में भ्रमण करता है

चंद्र मास
अमंता – वैशाख :
पूर्णिमांता – ज्येष्ठ :
शक वर्ष (राष्ट्रीय कैलेंडर) – ज्येष्ठ 1, 1944
वैदिक ऋतु – वसंत (वसंत)
ड्रिक रितु – ग्रिश्मा (ग्रीष्मकालीन)

शुभ योग
द्विपुष्कर – 22 मई 05:47 पूर्वाह्न – 22 मई 01:00 अपराह्न (धनिष्ट, सप्तमी और रविवार)

चंद्राष्टम
1. मृगशीर्ष अंतिम 2 पदम, आर्द्रा, पुनर्वसु प्रथम 3 पदम

पढ़ें :- Astro Tips : इन उपायों से बन जाते है बनते-बनते बिगड़े काम, रविवार का दिन है इसके लिए खास

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...