पंचकूला हिंसा : हरियाणा पुलिस को बड़ा झटका, राम रहीम की करीबी हनीप्रीत को मिली जमानत

ram rahim
पंचकूला हिंसा : हरियाणा पुलिस को बड़ा झटका, राम रहीम की करीबी हनीप्रीत को मिली जमानत

नई दिल्ली। हरियाणा पुलिस को पंचकूला हिंसा मामले में बढ़ा झटका लगा है। राम रहीम की करीबी हनीप्रीत को अदालत ने जमानत दे दी है और आज ही उसे रिहा कर दिया जायेगा। यानी वो आज ही जेल से बाहर आ जाएगी। मामले में अगली सुनवाई अब 20 नवंबर को होगी। बता दें कि, पिछली सुनवाई के दौरान हनीप्रीत के खिलाफ लगी देशद्रोह की धारा 121 व 121 एक को हटा दिया गया था।

Panchkula Violence Haryana Police Gets Big Blow Ram Rahims Close Honeypreet Gets Bail :

पुलिस कोर्ट में देशद्रोह व देशद्रोह की साजिश रचने के आरोप साबित नहीं कर सकी। इसके बाद जो धाराएं बची थीं, उनमें जमानत हो सकती थी। इसके बाद हनीप्रीत के वकील ने जमानत के लिए याचिका दायर की थी। याचिका पर आज सुनवाई हुई और हनीप्रीत वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए पेश हुई। अन्य आरोपी प्रत्यक्ष रूप से कोर्ट में पेश हुए थे। दोनों पक्षों की दलीलें सुनने के बाद अदालत ने फैसला सुनाते हुए हनीप्रीत की जमानत याचिका मंजूर कर ली।

गौरतलब है कि, राम रहीम को दोषी करार दिए जाने के बाद पंचकूला में 25 अगस्त 2017 को हिंसा हुई थी। इसमें 36 लोगों की जान गई थी। हनीप्रीत पर आरोप हैं कि उसने डेरा समर्थकों को हिंसा के लिए उकसाया था। इसके बाद ही समर्थकों ने पंचकूला में जमकर उत्पात मचाया। सड़कों पर खड़ी गाड़ियों को आग के हवाले कर दिया था।

मामले में शामिल अन्य आरोपियों में सुरेंद्र धीमान, गुरमीत, शरणजीत कौर, गोबिंद, प्रदीप, गुरमीत, दान सिंह, सुखदीप कौर, सीपी अरोड़ा, खैराती लाल, राकेश व अन्य प्रमुख हैं। अब इन पर आईपीसी की धारा 216, 145, 150, 151, 152, 153 व 120-बी के तहत ही सुनवाई हुई।

नई दिल्ली। हरियाणा पुलिस को पंचकूला हिंसा मामले में बढ़ा झटका लगा है। राम रहीम की करीबी हनीप्रीत को अदालत ने जमानत दे दी है और आज ही उसे रिहा कर दिया जायेगा। यानी वो आज ही जेल से बाहर आ जाएगी। मामले में अगली सुनवाई अब 20 नवंबर को होगी। बता दें कि, पिछली सुनवाई के दौरान हनीप्रीत के खिलाफ लगी देशद्रोह की धारा 121 व 121 एक को हटा दिया गया था। पुलिस कोर्ट में देशद्रोह व देशद्रोह की साजिश रचने के आरोप साबित नहीं कर सकी। इसके बाद जो धाराएं बची थीं, उनमें जमानत हो सकती थी। इसके बाद हनीप्रीत के वकील ने जमानत के लिए याचिका दायर की थी। याचिका पर आज सुनवाई हुई और हनीप्रीत वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए पेश हुई। अन्य आरोपी प्रत्यक्ष रूप से कोर्ट में पेश हुए थे। दोनों पक्षों की दलीलें सुनने के बाद अदालत ने फैसला सुनाते हुए हनीप्रीत की जमानत याचिका मंजूर कर ली। गौरतलब है कि, राम रहीम को दोषी करार दिए जाने के बाद पंचकूला में 25 अगस्त 2017 को हिंसा हुई थी। इसमें 36 लोगों की जान गई थी। हनीप्रीत पर आरोप हैं कि उसने डेरा समर्थकों को हिंसा के लिए उकसाया था। इसके बाद ही समर्थकों ने पंचकूला में जमकर उत्पात मचाया। सड़कों पर खड़ी गाड़ियों को आग के हवाले कर दिया था। मामले में शामिल अन्य आरोपियों में सुरेंद्र धीमान, गुरमीत, शरणजीत कौर, गोबिंद, प्रदीप, गुरमीत, दान सिंह, सुखदीप कौर, सीपी अरोड़ा, खैराती लाल, राकेश व अन्य प्रमुख हैं। अब इन पर आईपीसी की धारा 216, 145, 150, 151, 152, 153 व 120-बी के तहत ही सुनवाई हुई।