26 जनवरी से आपके मोबाइल में होगा ‘पैनिक बटन’, एक क्लिक पर मिलेगी मदद

panic-button

लखनऊ। महिला सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए आने वाली 26 जनवरी से मोबाइल में पैनिक बटन का ट्रायल शुरू होने जा रहा है। इसकी मदद से मुसीबत में फंसी महिलाओं को फौरी तौर पर मदद मिल सकेगी। मोबाइल में पैनिक बटन की शुरुआत के लिए महिला और बाल विकास विभाग बीते तीन साल से प्रयास कर रहा था। मंगलवार को महिला एवं बाल विकास मंत्री मेनका गांधी ने 2018 के एजेंडे की जानकारी देते हुए ये बातें बताई।

Panic Button Will Start On Mobile From January 26 In Uttar Pradesh :

महिला और बाल विकास मंत्री मेनका गांधी ने बताया, पैनिक बटन के लिए ट्रायल की तैयारी पूरी हो गई है। सबसे पहले यूपी में इसका ट्रायल किया जाएगा। इसके लिए यूजर को अपने स्मार्ट फोन में एक ऐप डाउनलोड करनी होगी। जिसके बाद पैनिक बटन काम करने लगेगा। उन्होंने बताया कि 1 अगस्त 2017 के बाद मोबाइल फोन के जितने ब्रैंड बिके हैं उनमें हार्डवेयर में ही पैनिक बटन का प्रावधान किया गया है। जैसे पैनिक बटन की ऐप डाउनलोड करने के बाद अगर कोई पावर बटन तीन बार दबाएगा तो पैनिक बटन काम करेगा और कॉल 112 में चली जाएगी।

मुसीबत में फंसी महिला को मदद के लिए पैनिक बटन की सुविधा देने के लिए पैनिक बटन एंड ग्लोबल पोजीशनिंग सिस्टम इन मोबाइल फोन हैंडसेट रूल 2016 पहले ही दूरसंचार विभाग नोटीफाई कर चुका है। इन नियमों के तहत आने वाले समय में सभी नये मोबाइल फोन में पैनिक बटन की सुविधा होगी।

मिनिस्ट्री के सीनियर अधिकारी के मुताबिक इसका ट्रायल यूपी से कर इसे सबसे पहले यूपी में ही लॉन्च किया जाएगा। यूपी को इसलिए चुना गया क्योंकि अगर यह यूपी में सफल हो गया तो फिर किसी भी राज्य में सफल हो सकता है।

लखनऊ। महिला सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए आने वाली 26 जनवरी से मोबाइल में पैनिक बटन का ट्रायल शुरू होने जा रहा है। इसकी मदद से मुसीबत में फंसी महिलाओं को फौरी तौर पर मदद मिल सकेगी। मोबाइल में पैनिक बटन की शुरुआत के लिए महिला और बाल विकास विभाग बीते तीन साल से प्रयास कर रहा था। मंगलवार को महिला एवं बाल विकास मंत्री मेनका गांधी ने 2018 के एजेंडे की जानकारी देते हुए ये बातें बताई।महिला और बाल विकास मंत्री मेनका गांधी ने बताया, पैनिक बटन के लिए ट्रायल की तैयारी पूरी हो गई है। सबसे पहले यूपी में इसका ट्रायल किया जाएगा। इसके लिए यूजर को अपने स्मार्ट फोन में एक ऐप डाउनलोड करनी होगी। जिसके बाद पैनिक बटन काम करने लगेगा। उन्होंने बताया कि 1 अगस्त 2017 के बाद मोबाइल फोन के जितने ब्रैंड बिके हैं उनमें हार्डवेयर में ही पैनिक बटन का प्रावधान किया गया है। जैसे पैनिक बटन की ऐप डाउनलोड करने के बाद अगर कोई पावर बटन तीन बार दबाएगा तो पैनिक बटन काम करेगा और कॉल 112 में चली जाएगी।मुसीबत में फंसी महिला को मदद के लिए पैनिक बटन की सुविधा देने के लिए पैनिक बटन एंड ग्लोबल पोजीशनिंग सिस्टम इन मोबाइल फोन हैंडसेट रूल 2016 पहले ही दूरसंचार विभाग नोटीफाई कर चुका है। इन नियमों के तहत आने वाले समय में सभी नये मोबाइल फोन में पैनिक बटन की सुविधा होगी।मिनिस्ट्री के सीनियर अधिकारी के मुताबिक इसका ट्रायल यूपी से कर इसे सबसे पहले यूपी में ही लॉन्च किया जाएगा। यूपी को इसलिए चुना गया क्योंकि अगर यह यूपी में सफल हो गया तो फिर किसी भी राज्य में सफल हो सकता है।