महिला टीचर और छात्र के साथ थे अवैध संबंध, पति अड़चन बना तो कर दी हत्या

pic
महिला टीचर और छात्र के साथ थे अवैध संबंध, पति अड़चन बना तो कर दी हत्या

नई दिल्ली। हरियाणा के पानीपत में एक 30 वर्षीय शादीशुदा महिला टीचर ने अपने 19 वर्षीय छात्र के साथ मिलकर अपने पति की बेरहमी से हत्या कर दी। मृतक का शव उसके घर से बरामद किया गया है। पुलिस ने इस संबंध में मृतक की पत्नी और उसके छात्र को गिरफ्तार कर लिया है। मामला टीचर और छात्र के बीच अवैध संबंध का है।

Panipat Female Teacher Student Illegal Relationship Husband Murder Conspiracy Disclosure :

वारदात समालखा इलाके की है। पुलिस के मुताबिक मोहनगढ़ जींद निवासी दिलबाग पानीपत के समालखा में खाद्य एवं आपूर्ति विभाग में कार्यरत था और समालखा में ही रहता था। जबकि उसकी एमए इंग्लिश पत्नी अमिता गांव में ही रहती थी और बच्चों को ट्यूशन देती थी। इसी दौरान अमिता के अपने विद्यार्थी अमित के साथ अवैध संबंध बन गए। अमिता और अमित के बीच बढ़ती नजदीकियों के बारे में जैसे ही दिलबाग को लगी तो वो अमिता को लेकर समालखा ले आया और वहीं रहने लगा।

अमिता और अमित को दिलबाग का यह फैसला गवारा नहीं हुआ। इस बात से अमिता गुस्से से भर गई। उसने दलबीर को रास्ते हटाने की योजना बना डाली। अपने प्लान के मुताबिक अमिता ने 18 दिसम्बर के दिन अमित को फोन कर अपने कमरे पर बुलाया।

फिर दलबीर को चाय में डालकर नशे की गोली दे दी। दलबीर बेहोश हो गया। अमिता और अमित ने उसके हाथ-पांव बांध दिए। लेकिन वो होश में आ गया। हाथ-पांव बंधे होने की वजह से उसने विरोध किया। तभी अमिता और अमित ने उसके सिर पर डंडे से कई वार कर डाले। जिससे मौके पर ही उसकी मौत हो गई।

नई दिल्ली। हरियाणा के पानीपत में एक 30 वर्षीय शादीशुदा महिला टीचर ने अपने 19 वर्षीय छात्र के साथ मिलकर अपने पति की बेरहमी से हत्या कर दी। मृतक का शव उसके घर से बरामद किया गया है। पुलिस ने इस संबंध में मृतक की पत्नी और उसके छात्र को गिरफ्तार कर लिया है। मामला टीचर और छात्र के बीच अवैध संबंध का है।वारदात समालखा इलाके की है। पुलिस के मुताबिक मोहनगढ़ जींद निवासी दिलबाग पानीपत के समालखा में खाद्य एवं आपूर्ति विभाग में कार्यरत था और समालखा में ही रहता था। जबकि उसकी एमए इंग्लिश पत्नी अमिता गांव में ही रहती थी और बच्चों को ट्यूशन देती थी। इसी दौरान अमिता के अपने विद्यार्थी अमित के साथ अवैध संबंध बन गए। अमिता और अमित के बीच बढ़ती नजदीकियों के बारे में जैसे ही दिलबाग को लगी तो वो अमिता को लेकर समालखा ले आया और वहीं रहने लगा।अमिता और अमित को दिलबाग का यह फैसला गवारा नहीं हुआ। इस बात से अमिता गुस्से से भर गई। उसने दलबीर को रास्ते हटाने की योजना बना डाली। अपने प्लान के मुताबिक अमिता ने 18 दिसम्बर के दिन अमित को फोन कर अपने कमरे पर बुलाया।फिर दलबीर को चाय में डालकर नशे की गोली दे दी। दलबीर बेहोश हो गया। अमिता और अमित ने उसके हाथ-पांव बांध दिए। लेकिन वो होश में आ गया। हाथ-पांव बंधे होने की वजह से उसने विरोध किया। तभी अमिता और अमित ने उसके सिर पर डंडे से कई वार कर डाले। जिससे मौके पर ही उसकी मौत हो गई।