आरोपियों पर पुलिस ने नहीं की कार्यवाही तो छेड़छाड़ से परेशान किशोरी ने पिया कीटनाशक

आरोपियों पर पुलिस ने नहीं की कार्यवाही तो छेड़छाड़ से परेशान किशोरी ने पिया कीटनाशक
आरोपियों पर पुलिस ने नहीं की कार्यवाही तो छेड़छाड़ से परेशान किशोरी ने पिया कीटनाशक

लखनऊ। बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ जैसे नारे तो लगातार सुनने को मिलते हैं, लेकिन लड़कियों की हालत में कहीं से सुधार होता नहीं नज़र आता। आयेदिन कहीं न कहीं रेप और छेड़छाड़ जैसी घटनाएं सामने आती रहती हैं बात करें नवाबों के शहर लखनऊ की तो अभी हाल ही में एक ऐसा मामला सामने आया है जहां छेड़छाड़ से परेशान एक युवती ने कीटनाशक पी जान देने की कोशिश की। हालांकि युवती को अभी अस्पताल में भर्ती कराया गया है जहां उसकी हालत गंभीर बताई जा रही है।

Pareshan Kishori Ne Piya Keetnashak :

जाने पूरा मामला

यह मामला लखनऊ के तेलीबाग इलाके का है जहां युवती ने छेड़छाड़ से परेशान होकर मामले की जानकारी पुलिस को दी लेकिन पीजीआई पुलिस आरोपी पर लगाम कसने के बजाय डेढ़ महीने तक उसे बचाती रही। वहीं लगातार हो रही छेड़छाड़ से परेशान होकर युवती ने कीटनाशक पी लिया जिसके बाद हालत गंभीर होने पर उसे को पास के सरकारी अस्पताल में भर्ती करवाया गया। वहीं इस मामले में पुलिस का कहना है कि मामला दर्ज है और आरोपी की तलाश जारी है।

पीड़िता ने इस बारे में बताया कि 27 मार्च को उसके साथ छेड़छाड़ हुई थी और आरोपी का विरोध करने पर उसकी पिटाई भी हुई। जिसके बाद युवती अपने परिजनों के साथ पुलिस के पास छेड़छाड़ और धमकी देने का मामला दर्ज करवाया लेकिन पुलिस ने मामला दर्ज करने के बाद जिम्मेदारियों से पल्ला झाड़ लिया यही नहीं अभी तक युवती का मजिस्ट्रियल बयान भी नहीं लिया गया है।

वहीं जब मामले की शिकायत उच्चाधिकारियों से की गई तो विवेचक भड़क गए। पीड़िता ने बताया कि आरोपी बुधवार को उसके घर गया और उसे केस वापस लेने की धमकी दी और विरोध करने पर उसने छेड़छाड़ कर उसकी पिटाई कर चला गया। वहीं इसी के बाद से वो सदमें में थी और देर रात उसने कीटनाशक पी आत्महत्या की कोशिश की। इसी के बाद गुरुवार को परिजनों ने पुलिस के उच्चाधिकारियों से गुहार लगाने की बात कही।

लखनऊ। बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ जैसे नारे तो लगातार सुनने को मिलते हैं, लेकिन लड़कियों की हालत में कहीं से सुधार होता नहीं नज़र आता। आयेदिन कहीं न कहीं रेप और छेड़छाड़ जैसी घटनाएं सामने आती रहती हैं बात करें नवाबों के शहर लखनऊ की तो अभी हाल ही में एक ऐसा मामला सामने आया है जहां छेड़छाड़ से परेशान एक युवती ने कीटनाशक पी जान देने की कोशिश की। हालांकि युवती को अभी अस्पताल में भर्ती कराया गया है जहां उसकी हालत गंभीर बताई जा रही है। जाने पूरा मामला यह मामला लखनऊ के तेलीबाग इलाके का है जहां युवती ने छेड़छाड़ से परेशान होकर मामले की जानकारी पुलिस को दी लेकिन पीजीआई पुलिस आरोपी पर लगाम कसने के बजाय डेढ़ महीने तक उसे बचाती रही। वहीं लगातार हो रही छेड़छाड़ से परेशान होकर युवती ने कीटनाशक पी लिया जिसके बाद हालत गंभीर होने पर उसे को पास के सरकारी अस्पताल में भर्ती करवाया गया। वहीं इस मामले में पुलिस का कहना है कि मामला दर्ज है और आरोपी की तलाश जारी है। पीड़िता ने इस बारे में बताया कि 27 मार्च को उसके साथ छेड़छाड़ हुई थी और आरोपी का विरोध करने पर उसकी पिटाई भी हुई। जिसके बाद युवती अपने परिजनों के साथ पुलिस के पास छेड़छाड़ और धमकी देने का मामला दर्ज करवाया लेकिन पुलिस ने मामला दर्ज करने के बाद जिम्मेदारियों से पल्ला झाड़ लिया यही नहीं अभी तक युवती का मजिस्ट्रियल बयान भी नहीं लिया गया है। वहीं जब मामले की शिकायत उच्चाधिकारियों से की गई तो विवेचक भड़क गए। पीड़िता ने बताया कि आरोपी बुधवार को उसके घर गया और उसे केस वापस लेने की धमकी दी और विरोध करने पर उसने छेड़छाड़ कर उसकी पिटाई कर चला गया। वहीं इसी के बाद से वो सदमें में थी और देर रात उसने कीटनाशक पी आत्महत्या की कोशिश की। इसी के बाद गुरुवार को परिजनों ने पुलिस के उच्चाधिकारियों से गुहार लगाने की बात कही।