डच चित्रकार ने जिस पिस्तौल से खुदकुशी की थी, वह 1.25 करोड़ में हुई नीलाम

dach
डच चित्रकार ने जिस पिस्तौल से खुदकुशी की थी, वह 1.25 करोड़ में हुई नीलाम

नई दिल्ली। डच चित्रकार विनसेंट वान गफ ने जिस पिस्तौल से खुदकुशी की थी, वह सवा करोड़ रुपए में नीलाम हुई। जानकारी के मुताबिक, पिस्तौल सवा करोड़ रुपए में नीलाम हुई। कला की दुनिया में इस पिस्तौल को सबसे चर्चित हथियारों में से एक कहा जाता है। इसलिए आयोजकों ने उस व्यक्ति के नाम के बारे में कोई जानकारी नहीं दी है, जिसने पिस्तौल खरीदी है।

Paris Vincent Van Gogh Suicide Gun Sold At Auction :

यह तय नहीं कि गफ ने इसी पिस्तौल से खुदकुशी की

हालांकि, आयोजक इस बात की पुष्टि नहीं कर सके कि इसी पिस्तौल से गफ ने खुदकुशी की थी। उनका कहना है कि गफ की मौत के लगभग 75 साल बाद यह हथियार उसी जगह से मिला था, जहां गफ का शव पाया गया। पिस्तौल का कैलिबर भी गफ के पेट में मिली गोली से मेल खाता है। वैज्ञानिक जांच से भी पता चला कि 1890 के बाद से पिस्तौल जमीन में दबी हुई थी।

पेट में गोली मारकर खुदकुशी की थी

गफ ने 1890 में पेट में गोली मारकर खुदकुशी कर ली थी। 1965 में 7 एमएम की यह पिस्तौल एक किसान को ऑवर्स-सुर-ओइस गांव के उस खेत में से मिली थी, जहां गफ का शव पाया गया था। उसने वहां के एक होटल के मालिक को सौंप दिया। तब से यह हथियार होटल मालिक के परिजन के पास था। 2016 में इसे गफ के म्यूजियम में रखा गया।

वेस्टर्न आर्ट के क्षेत्र में गफ सबसे विख्यात पेंटर थे

गफ का जन्म 30 मार्च 1853 को हुआ था, जबकि उनकी मौत 29 जुलाई 1890 को हुई। वेस्टर्न आर्ट के क्षेत्र में गफ सबसे विख्यात पेंटर थे। उन्होंने करीब 2100 पेंटिंग्स बनाईं। इसमें 860 ऑयल पेंटिंग्स थीं। उनकी सारी बेहतरीन रचनाएं जीवन के आखिरी दो सालों में तैयार हुईं।

इतने विख्यात चित्रकार होने के बाद भी व्यावसायिक तौर पर गफ असफल ही रहे। 37 साल में जब उन्होंने खुदकुशी की, तब वे गरीबी और मानसिक परेशानी से जूझ रहे थे। हालांकि, उकका जन्म एक मध्यमवर्गीय परिवार में हुआ था। बचपन में भी गफ गंभीर, शांत और एक विचारक के तौर पर जाने जाते थे, लेकिन युवावस्था में वे आर्ट डीलर बन गए।

नई दिल्ली। डच चित्रकार विनसेंट वान गफ ने जिस पिस्तौल से खुदकुशी की थी, वह सवा करोड़ रुपए में नीलाम हुई। जानकारी के मुताबिक, पिस्तौल सवा करोड़ रुपए में नीलाम हुई। कला की दुनिया में इस पिस्तौल को सबसे चर्चित हथियारों में से एक कहा जाता है। इसलिए आयोजकों ने उस व्यक्ति के नाम के बारे में कोई जानकारी नहीं दी है, जिसने पिस्तौल खरीदी है। यह तय नहीं कि गफ ने इसी पिस्तौल से खुदकुशी की हालांकि, आयोजक इस बात की पुष्टि नहीं कर सके कि इसी पिस्तौल से गफ ने खुदकुशी की थी। उनका कहना है कि गफ की मौत के लगभग 75 साल बाद यह हथियार उसी जगह से मिला था, जहां गफ का शव पाया गया। पिस्तौल का कैलिबर भी गफ के पेट में मिली गोली से मेल खाता है। वैज्ञानिक जांच से भी पता चला कि 1890 के बाद से पिस्तौल जमीन में दबी हुई थी। पेट में गोली मारकर खुदकुशी की थी गफ ने 1890 में पेट में गोली मारकर खुदकुशी कर ली थी। 1965 में 7 एमएम की यह पिस्तौल एक किसान को ऑवर्स-सुर-ओइस गांव के उस खेत में से मिली थी, जहां गफ का शव पाया गया था। उसने वहां के एक होटल के मालिक को सौंप दिया। तब से यह हथियार होटल मालिक के परिजन के पास था। 2016 में इसे गफ के म्यूजियम में रखा गया। वेस्टर्न आर्ट के क्षेत्र में गफ सबसे विख्यात पेंटर थे गफ का जन्म 30 मार्च 1853 को हुआ था, जबकि उनकी मौत 29 जुलाई 1890 को हुई। वेस्टर्न आर्ट के क्षेत्र में गफ सबसे विख्यात पेंटर थे। उन्होंने करीब 2100 पेंटिंग्स बनाईं। इसमें 860 ऑयल पेंटिंग्स थीं। उनकी सारी बेहतरीन रचनाएं जीवन के आखिरी दो सालों में तैयार हुईं। इतने विख्यात चित्रकार होने के बाद भी व्यावसायिक तौर पर गफ असफल ही रहे। 37 साल में जब उन्होंने खुदकुशी की, तब वे गरीबी और मानसिक परेशानी से जूझ रहे थे। हालांकि, उकका जन्म एक मध्यमवर्गीय परिवार में हुआ था। बचपन में भी गफ गंभीर, शांत और एक विचारक के तौर पर जाने जाते थे, लेकिन युवावस्था में वे आर्ट डीलर बन गए।