1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तराखंड
  3. पार्टी ने मुझे एमएलए, सांसद, सीएम बनाया, अब आगे की भूमिका वही तय करेगी : तीरथ सिंह रावत

पार्टी ने मुझे एमएलए, सांसद, सीएम बनाया, अब आगे की भूमिका वही तय करेगी : तीरथ सिंह रावत

उत्तराखण्ड के सीएम तीरथ सिंह रावत तीन दिन से दिल्ली में डेरा जमाए हुए हैं। सीएम रावत के इस दौरे से सियासत गरमाई हुई है। सीएम रावत ने एक बात साफ कर दिया जो कुछ होता है दिल्ली से होता है। मुख्यमंत्री ने कहा कि मेरा राजनीतिक जीवन यूपी से शुरू हुआ। फिर उत्तराखण्ड राज्य बना और मैं यहां आ गया मुझे। वहां भी काम करने का मौका मिला। मैं यहां भी कर रहा हूं। पार्टी ने मुझे सांसद बनाया, सीएम बनाया, आगे जो रणनीति तय करेगी हम उसी पर काम करेंगे।

By संतोष सिंह 
Updated Date

नई दिल्ली। उत्तराखंड में 2022 में होने वाले विधानसभा चुनाव और उपचुनाव को लेकर राज्य में सियासी हलचल तेज हो गई है। पार्टी की रिपोर्ट के मुताबिक बीजेपी को इस बात का डर है कि तीरथ सिंह रावत इस चुनाव में अच्छा प्रदर्शन कर पाएंगे या नहीं। इसके लिए राज्य में कयास लगाए जा रहे हैं कि पार्टी उत्तराखंड में नया सीएम चुन सकती है। बता दें कि तीरथ सिंह रावत इसी चिंता को लेकर पिछले तीन दिनों से दिल्ली में डेरा जमाए हुए हैं। उप चुनाव को लेकर अनिश्चितता और राज्य भाजपा इकाई में दरार के कारण कहीं उनकी सीएम की कुर्सी न चली जाए।

पढ़ें :- संगीत सोम की असदुद्दीन ओवैसी को खुली चुनौती, बोले- अगर दम है तो मेरे खिलाफ लड़े चुनाव

उत्तराखण्ड के सीएम तीरथ सिंह रावत तीन दिन से दिल्ली दौरे से सियासत गरमाई हुई है। सीएम रावत ने एक बात साफ कर दिया जो कुछ होता है दिल्ली से होता है। मुख्यमंत्री ने कहा कि मेरा राजनीतिक जीवन यूपी से शुरू हुआ। फिर उत्तराखण्ड राज्य बना और मैं यहां आ गया मुझे। वहां भी काम करने का मौका मिला। मैं यहां भी कर रहा हूं। पार्टी ने मुझे सांसद बनाया, सीएम बनाया, आगे जो रणनीति तय करेगी हम उसी पर काम करेंगे।

सीएम तीरथ के उप चुनाव लड़ने को लेकर संशय बरकरार है। सीएम रावत ने कहा कि मेरा उप चुनाव लड़ना चुनाव आयोग तय करेगा कि मैं चुनाव लड़ूंगा या नहीं और लड़ूंगा तो कब? सूत्रों के मुताबिक बीजेपी अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव को तीरथ सिंह की अगुआई में लड़ने के पक्ष में नहीं है। तीरथ रावत इस साल मार्च में उत्तराखंड के सीएम बने थे। तत्कालीन मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत के खिलाफ भाजपा के उग्र असंतोष को देखते हुए पार्टी ने तीरथ रावत को सीएम बनाने का फैसला किया था, लेकिन सीएम की कुर्सी पर बने रहने के लिए तीरथ सिंह रावत, जो कि सांसद हैं, उन्हें 10 सितंबर से पहले उत्तराखंड विधानसभा का सदस्य बनना है।

ताजा रिपोर्ट के मुताबिक बीजेपी ने अब दो अन्य नेता सतपाल महाराज और धन सिंह रावत को भी दिल्ली बुलाया है। कहा जा रहा है कि राज्य बीजेपी द्वारा दी गई फीडबैक के बाद इन नेताओं को दिल्ली तलब किया गया है।

जेपी नड्डा से की सीएम तीरथ सिंह रावत ने मुलाकात

पढ़ें :- सुप्रीम कोर्ट की केरल सरकार को फटकार, कहा- जीवन के अधिकार से बड़ा कुछ नहीं, जानें क्या है मामला

मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने शुक्रवार को पार्टी अध्यक्ष जेपी नड्डा से मुलाकात की। इस दौरान उन्होंने आगामी विधानसभा चुनाव, कावड़ यात्रा, कोरोना संक्रमण में तैयारी जैसे कई महत्वपूर्ण मुद्दों पर चर्चा की।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...