यूपी: इटावा में ट्रेन डिरेल करने की साजिश नाकाम

train
ट्रेन यात्रियों पर पड़ेगा कोहरे का असर, दो महीने के लिए निरस्त हैं ये 13 ट्रेनें

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मैनपुरी में इटावा-मैनपुरी पैसेंजर ट्रेन हादसे का शिकार होते बाल-बाल बची। अराजकतत्वों ने करहल के पास ट्रैक पर स्लीपर डालकर उसे डिरेल करने की कोशिश की। हालांकि, सतर्क ड्राइवर ने समय पर ब्रेक लगा दिया, जिससे दुर्घटना टल गई। इंजन का अगला हिस्सा क्षतिग्रस्त हो गया। मौके पर आरपीएफ की टीम रवाना हो गई।

Passenger Train Tries To Overturn A Big Accident In Etawah :

घटना करहल में गेट नंबर-8 पर उस समय हुई जब पैसेंजर ट्रेन मैनपुरी की और जा रही थी और उसमें करीब 75-80 यात्री सवार थे। ट्रेन रात 10 बजे इटावा रेलवे स्टेशन से रवाना हुई थी। आरपीएफ के इंस्पेक्टर डीके शर्मा ने बताया कि ट्रेन के इंजन का पावर फेल होने की सूचना मिली है। फोर्स को मौके पर रवाना कर दिया गया है। बड़ा हादसा होने से बच गया।

इलाके के लोगों ने जैसे ही ट्रेन के आगे के हिस्से के क्षतिग्रस्त होने की खबर सुनी। चारों तरफ अफरा-तफरी मच गई। मौके पर भीड़ एकत्रित हो गई। इस घटना के बाद लोगों में आशंका पैदा हो गई कि अब तक हुई रेल घटनाओं में कहीं न कहीं इस तरह के शरारती तत्वों का हाथ भी रहा होगा।

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मैनपुरी में इटावा-मैनपुरी पैसेंजर ट्रेन हादसे का शिकार होते बाल-बाल बची। अराजकतत्वों ने करहल के पास ट्रैक पर स्लीपर डालकर उसे डिरेल करने की कोशिश की। हालांकि, सतर्क ड्राइवर ने समय पर ब्रेक लगा दिया, जिससे दुर्घटना टल गई। इंजन का अगला हिस्सा क्षतिग्रस्त हो गया। मौके पर आरपीएफ की टीम रवाना हो गई।घटना करहल में गेट नंबर-8 पर उस समय हुई जब पैसेंजर ट्रेन मैनपुरी की और जा रही थी और उसमें करीब 75-80 यात्री सवार थे। ट्रेन रात 10 बजे इटावा रेलवे स्टेशन से रवाना हुई थी। आरपीएफ के इंस्पेक्टर डीके शर्मा ने बताया कि ट्रेन के इंजन का पावर फेल होने की सूचना मिली है। फोर्स को मौके पर रवाना कर दिया गया है। बड़ा हादसा होने से बच गया।इलाके के लोगों ने जैसे ही ट्रेन के आगे के हिस्से के क्षतिग्रस्त होने की खबर सुनी। चारों तरफ अफरा-तफरी मच गई। मौके पर भीड़ एकत्रित हो गई। इस घटना के बाद लोगों में आशंका पैदा हो गई कि अब तक हुई रेल घटनाओं में कहीं न कहीं इस तरह के शरारती तत्वों का हाथ भी रहा होगा।