1. हिन्दी समाचार
  2. पतंजलि की कोरोना दवा के प्रचार पर लगी रोक, जांच के लिए मांगी जानकारी

पतंजलि की कोरोना दवा के प्रचार पर लगी रोक, जांच के लिए मांगी जानकारी

Patanjalis Ban On Promotion Of Corona Medicine Information Sought For Investigation

By शिव मौर्या 
Updated Date

नई दिल्ली। कोरोना की दवा बनाने वाली पतंजलि आयुर्वेद लि. के दावों पर आयुष मंत्रालय ने संज्ञान लिया है। मंत्रालय ने कोरोना की दवा से जुड़े विज्ञापनों के के प्रचार पर रोक लगा दी है। इसके साथ ही अपने दावे को सार्वजनिक करने से मना कर दिया है।

पढ़ें :- नवनीत सहगल को मिली सूचना विभाग की कमान, अवनीश अवस्थी से लिया गया वापस

सरकार ने कहा है कि जब तक इसकी विधिवत जांच नहीं हो जाती, तब तक इसके प्रचार-प्रसार पर रोक लगी रहेगी।मंत्रालय ने पतंजलि से दवा की डीटेल मांगी है ताकि पतंजलि के दावे की जांच की सके। आयुष मंत्रालय ने कहा है पतंजलि की कथित दवा, औषधि एवं चमत्कारिक उपचार (आपत्तिजनक विज्ञापन) कानून, 1954 के तहत विनियमित है।

बता दें कि, कोरोना के इलाज के लिए पतंजलि की दवा को लेकर आयुष मंत्रालय ने कहा कि हमें इस बात की जानकारी नहीं है कि किस तरह के वैज्ञानिक अध्ययन के बाद दवा बनाने का दावा किया गया है। मंत्रालय ने इससे जुड़ी पूरी जानकारी मांगी है। सरकार ने साफ शब्दों में कहा है कि बिना मानक की जांच कराए हर तरह के विज्ञापन पर अगले आदेश तक रोक रहेगी। मालूम हो कि मंगलवार को बाबा रामदेव ने कोरोना के इलाज के लिए दवाई बनाने का दावा किया।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...