पत्थरबाजों की जगह अरुंधति रॉय को आर्मी जीप के आगे बांधना चाहिए था: परेश रावल

नई दिल्ली। अभिनेता से नेता बने परेश रावल अक्सर सुर्खियों में बने रहते है। फिल्मी जगत में अपनी अभिनय का लोहा मनवा चुके परेश इन दिनों सियासत में भी खूब नाम कमा रहें है। आज कल परेव रावल का एक ट्वीट सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है। दरअसल रावल ने कश्मीर के मुद्दे पर एक ट्वीट करते हुए कहा है कि पत्थरबाजों को आर्मी जीप के बोनट पर बांधने से अच्छा था कि उनकी जगह अरुंधति रॉय को बांधा गया होता। बता दें कि वर्तमान समय में परेश रावल बीजेपी से गुजरात के संसद है। परेश का यह ट्वीट सोशल मीडिया पर खूब पसंद किया जा रहा है। रावल के इस ट्वीट पर तंज़ कसते हुए दिग्विजय सिंह ने भी एक ट्वीट किया है जिसमे सिंह ने कहा है, ‘उस शख्स को क्यों नहीं जिसने बीजेपी-पीडीपी अलायंस कराया है।’



गौरतलब है कि पिछले दिनों सोशल मीडिया पर एक विडियो खूब वायरल हुआ था जिसमे पत्थरबाजी करने वाले एक शख्स को आर्मी की जीप के आगे बांध कर घुमाया दिखाई दे रहा था। आर्मी के इस कदम की कही आलोचना हुई थी तो कई जगहों पर इस पहल की सराहना भी हुई। हालांकि बवाल बढ़ता देख फोर्स ने इस मामले की जांच का भरोसा दिया था।





कौन है अरुंधति रॉय…

अरुंधति रॉय बुकर प्राइज विनर राइटर हैं। इन्होने फिल्म जगत में भी खूब नाम कमाया था जिसके बाद ये सामाजिक पहलुओं पर अपनी बात रखने लगी। अपनी क्रातिकारी विचारधारा की वजह से ये अक्सर सुर्खियों में रहती है, कश्मीर मुद्दे पर भी इस महिला ने कई बार बड़ी ही बेबाकी से अपनी राय रखी है।




बताते चले कि एक्टर से पॉलिटिशियन बने परेश रावल ने रविवार रात एक ट्वीट किया। बीजेपी सांसद ने लिखा- पत्थरबाज को आर्मी जीप के आगे बांधने की जगह अरुंधति रॉय को इसके आगे बांधा जाना चाहिए। इसके बाद कई लोगों ने रावल के ट्वीट पर जवाब दिए। एक ट्वीट का जवाब देते हुए रावल ने कहा- हमारे पास ढेर सारी और कई तरह की च्वाइस हैं। गुजरात के इस बीजेपी सांसद के ट्वीट को 14 घंटे में 3 हजार बार से ज्यादा री-ट्वीट किया गया। इस पर करीब 6 हजार लाइक्स भी आए।