1. हिन्दी समाचार
  2. दिल्ली
  3. पटियाला जेल की बैरक नंबर 10 बनी सिद्धू का नया ठिकाना, कैदी नंबर 241383 बने,रात का खाना छोड़ा

पटियाला जेल की बैरक नंबर 10 बनी सिद्धू का नया ठिकाना, कैदी नंबर 241383 बने,रात का खाना छोड़ा

पंजाब कांग्रेस के पूर्व प्रमुख नवजोत सिंह सिद्धू रोडरेज केस में शुक्रवार शाम को पटियाला सेशन कोर्ट में सरेंडर करने के बाद पटियाला सेंट्रल जेल भेज दिए गए। इसके साथ​ ही नवजोत सिद्धू अब कैदी नंबर 241383 बन गए हैं। जेल के अंदर जाने के बाद उन्हें यह कैदी नंबर अलॉट हुआ है। सेशन कोर्ट में सरेंडर किया जिसके बाद मेडिकल हुआ और फिर उन्हें जेल भेज दिया गया।

By संतोष सिंह 
Updated Date

पटियाला। पंजाब कांग्रेस के पूर्व प्रमुख नवजोत सिंह सिद्धू रोडरेज केस में शुक्रवार शाम को पटियाला सेशन कोर्ट में सरेंडर करने के बाद पटियाला सेंट्रल जेल भेज दिए गए। इसके साथ​ ही नवजोत सिद्धू अब कैदी नंबर 241383 बन गए हैं। जेल के अंदर जाने के बाद उन्हें यह कैदी नंबर अलॉट हुआ है। सेशन कोर्ट में सरेंडर किया जिसके बाद मेडिकल हुआ और फिर उन्हें जेल भेज दिया गया।

पढ़ें :- अग्निपथ योजना के विरोध में कांग्रेस  का सभी विधानसभा क्षेत्रों में ‘सत्याग्रह’ आज

पहले उन्हें लाइब्रेरी अहाते में रखा गया। हालांकि, बाद में कैदी नंबर अलॉट कर बैरक नंबर 10 में शिफ्ट कर दिया गया है। यहां उन्हें हत्या में सजा काट रहे 8 कैदियों के साथ रखा गया है। बैरक में सिद्धू को सीमेंट से बने थड़े पर सोना होगा। सिद्धू को सुप्रीम कोर्ट ने 34 साल पुराने मामले में एक साल बामशक्कत कैद की सजा सुनाई है।

सिद्धू को शुक्रवार शाम सवा 7 बजे जेल मैनुअल के मुताबिक दाल-रोटी दी गई। हालांकि, उन्होंने सेहत का हवाला देते हुए खाने से इनकार कर दिया। उन्होंने सिर्फ सलाद और फ्रूट ही खाया। वहीं सिद्धू के कट्‌टर विरोधी बिक्रम मजीठिया की बैरक सिद्धू से 500 मीटर दूर हैं। मजीठिया बैरक नंबर 11 में हैं। वह ड्रग्स केस में बंद हैं। सिद्धू और मजीठिया की बैरक के बाहर सिक्युरिटी भी तैनात की गई है।

सिद्धू को जानें क्या मिला सामान
जेल के भीतर सिद्धू को कैदियों वाले सफेद कपड़े पहनने होंगे। सिद्धू को जेल में एक कुर्सी-टेबल, एक अलमारी, 2 पगड़ी, एक कंबल, एक बेड, तीन अंडरवियर और बनियान, 2 टॉवल, एक मच्छरदानी, एक कॉपी-पेन, जूतों की जोड़ी, 2 बेडशीट, दो तकिया कवर और 4 कुर्ते-पायजामे दिए गए हैं।

सिद्धू मांग चुके स्पेशल डाइट

पढ़ें :- Sanjay Raut बोले- फिलहाल महाराष्ट्र में नहीं आने वाला है कोई राजनीतिक भूकंप

सिद्धू को लीवर की प्रॉब्लम है। इसके अलावा उनके पैरों में बेल्ट भी बंधी हुई है। सिद्धू के मीडिया सलाहकार सुरिंदर डल्ला ने कहा कि सिद्धू को गेहूं से एलर्जी है। वह गेहूं की रोटी नहीं खा सकते। लंबे समय से वह रोटी नहीं खा रहे। इसलिए उन्होंने स्पेशल डाइट मांगी है। इसके बारे में उन्होंने कल मेडिकल के दौरान भी जानकारी दी।

 

ऐसे होगी सिद्धू की दिनचर्या

सिद्धू का जेल में दिन सुबह साढ़े 5 बजे शुरू हो जाएगा। सुबह 7 बजे चाय के साथ बिस्किट या काले चने दिए जाएंगे। इसके बाद सुबह 8.30 बजे नाश्ता होगा। जिसमें रोटी और दाल या सब्जी मिलेगी। इसके बाद उन्हें काम करने के लिए फैक्ट्री में ले जाया जाएगा। वहां उन्हें दिनभर काम करना होगा। शाम साढ़े 5 बजे उनकी छुट्‌टी होगी। शाम 6 बजे उन्हें रात का खाना मिलेगा। रात 7 बजे उन्हें बैरक में बंद कर दिया जाएगा।

जेल प्रशासन ने  सिद्धू से मांगे गए 5 नंबर

पढ़ें :- अब MLC चुनाव में बड़ा झटका : संकट में उद्धव सरकार, शिवसेना के 13 विधायक गुजरात पहुंचे

जेल प्रशासन ने सिद्धू से कहा कि वे कोई भी 5 नंबर दे सकते हैं। जेल में बंद कैदी को जेल प्रशासन ने फोन करने की सुविधा दे रखी है। कैदी उन्हीं को फोन कर सकता है, जिनके नंबर वह जेल प्रशासन को देता है। दिए गए नंबरों के अलावा किसी भी अन्य नंबर काल करने की सुविधा नहीं होती, क्योंकि वही नंबर रिकॉर्ड में रखे जाते हैं।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...