चुनाव से पहले हार्दिक को मिली राहत, 5 हजार के बॉन्ड पर कोर्ट ने दी जमानत

hardik-patel

Patidar Leader Hardik Patel Granted Bail On Rs 5000 Bond

विसनगर। पाटीदार नेता हार्दिक पटेल को मेरसाणा जिले की विसनगर अदालत ने गिरफ्तारी से राहत देते हुए 5000 रुपये के बॉन्ड पर जमानत दी है। उनके खिलाफ भाजपा कार्यालय में तोड़फोड़ करने के मामले में गैरजमानती वारंट जारी हुआ था। विसनगर सेशन कोर्ट ने हार्दिक पटेल, लालजी पटेल और अन्य के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी किया था।

हार्दिक पहले कोर्ट में पेश नहीं हुए थे, लेकिन गुरुवार को वह पेश हुए। उन्हें 5000 के मुचलके पर जमानत मिली है। 2015 में आरक्षण आंदोलन के दौरान एक भाजपा विधायक के दफ्तर पर हमले के मामले में लगातार दूसरी बार कोर्ट में पेश न होने पर कोर्ट ने यह वारंट जारी किया था। विसनगर सत्र न्यायाधीश वीपी अग्रवाल ने हार्दिक के अलावा सरदार पटेल ग्रुप के लालजी पटेल समेत छह लोगों के खिलाफ ये वारंट जारी किया था।

इसी अदालत ने इससे पहले हार्दिक की वह याचिका खारिज कर दी थी जिसमें उन्होंने पाटीदार आरक्षण आंदोलन के केंद्र रहे मेहसाणा जिले में प्रवेश की अनुमति मांगी थी। हार्दिक ने गुजरात हाईकोर्ट की जमानत शर्तों में छूट देते हुए उन्हें मेहसाणा आने देने की गुहार लगाई थी। पाटीदार की अगुवाई वाला आंदोलन गुजरात में सरकारी नौकरियों और शिक्षण संस्थानों में आरक्षण की मांग कर रहा है। भाजपा सरकार के उनकी मांगें न मानने पर हार्दिक काफी मुखर हैं। वह कई बार भाजपा और पीएम मोदी पर तीखे हमले कर चुके हैं।

विसनगर। पाटीदार नेता हार्दिक पटेल को मेरसाणा जिले की विसनगर अदालत ने गिरफ्तारी से राहत देते हुए 5000 रुपये के बॉन्ड पर जमानत दी है। उनके खिलाफ भाजपा कार्यालय में तोड़फोड़ करने के मामले में गैरजमानती वारंट जारी हुआ था। विसनगर सेशन कोर्ट ने हार्दिक पटेल, लालजी पटेल और अन्य के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी किया था। हार्दिक पहले कोर्ट में पेश नहीं हुए थे, लेकिन गुरुवार को वह पेश हुए। उन्हें 5000 के मुचलके पर जमानत मिली है।…