बाढ़ से कराह रहा बिहार लेकिन नेता कर रहें मार, तेजस्वी का नीतीश सरकार पर हमला

पटना। समूचा बिहार बाढ़ की मार से कराह रहा है लेकिन सियासी पार्टियां इसमे भी अपना सियासी पैतरा आजमा रही है। बिहार के नेता प्रतिपक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव बाढ़ प्रभावित इलाकों के निरीक्षण हेतु मंगलवार को दो दिवसीय दौरे पर निकले। इस दौरान वो नीतीश सरकार पर हमला करने से नहीं चुके। इस दौरान तेजस्वी यादव ने कहा बिहार में बाढ़ आई नहीं है बल्कि लायी गई है। उन्होने कहा कि मैं बाढ़ पीड़ितों के बीच इसलिये जा रहा हूं ताकि उन्हें मिली सुविधाएं और मुआवजे का सही आंकलन कर सकूं। पूर्व डिप्टी सीएम ने कहा कि सरकार बाढ़ को रोकने के साथ-साथ पीड़ितों की मदद करने में भी विफल रही है।

{ यह भी पढ़ें:- सुशील मोदी ने बदला बेटे के शादी समारोह का स्थल, सोशल मीडिया पर हुई आलोचना }

इस दौरे के दौरान जब तेजस्वी समस्‍तीपुर पहुंचे तो उनको वहां इंटरनेट का सिग्‍नल नहीं मिला। इस पर तेजस्‍वी ने नीतीश सरकार पर हमला बोलते हुए ट्वीट किया, ‘आज से दो दिनों के लिए बाढ़ प्रभावित दौरे पर हूं, वहां बिहार सरकार के निर्देशानुसार इंटरनेट बंद है।’ इसके बाद एक दूसरे ट्वीट में सवालिया लहजे में कहा, ‘विधानसभा में मेरे भाषण का लाइव टेलीकास्‍ट रोका, भागलपुर में सभास्‍थल पर धारा 144 लगवाई, इंटरनेट सेवा बंद करवा रहे, लेकिन जनता को कैसे रोकोगे?’ इस पर तेजस्‍वी यादव की पार्टी राजद ने कहा, ”तेजस्‍वी जी की लोकप्रियता से डर गई है नीतीश सरकार। उनके दौरे से ठीक पहले मधेपुरा, किशनगंज, अररिया, सुपौल में इंटरनेट बंद करवा दिया गया है।’

तेजस्‍वी के इस ट्वीट के बदले में पलटवार करते हुए सत्‍ताधारी जदयू के प्रवक्‍ता संजय सिंह ने कहा कि तेजस्‍वी यादव फाइव स्‍टार नेता हैं, जो बाढ़ का पानी उतरने के बाद अब पर्यटन के मकसद से वहां हालात का जायजा लेने निकले हैं।

Loading...