रामविलास पासवान की बेटी का एेलान-पिता के खिलाफ लड़ूंगी चुनाव

रामविलास पासवान की बेटी का एेलान-पिता के खिलाफ लड़ूंगी चुनाव
रामविलास पासवान की बेटी का एेलान-पिता के खिलाफ लड़ूंगी चुनाव

नई दिल्ली। केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान की बेटी आशा पासवान ने पिता के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। उन्‍होंने बड़ा एेलान करते हुए कहा है कि वे अपने पिता के खिलाफ राजद के टिकट पर चुनाव लड़ेंगी। गुरुवार को पासवान की बेटी आशा पासवान ने ऐलान किया कि अगर उन्हें राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) से टिकट मिलता है, तो वह हाजीपुर लोकसभा सीट पर चुनाव लड़ने के लिए तैयार हैं। बता दें कि पासवान इसी लोकसभा सीट से निर्वाचित होते रहे हैं।

Patna Will Fight Against Dad In Lok Sabha Polls Ram Vilas Daughter :

‘चिराग को बढ़ावा दिया, बेटियों की अनदेखी’

एलजेपी प्रमुख पर केवल अपने बेटे और जमुई सांसद चिराग पासवानको बढ़ावा देने और खुद की अनदेखी का आरोप लगाते हुए आशा पासवान ने अपने पिता पर जमकर हमला बोला। आशा ने पासवान पर लड़कियों से हमेशा भेदभाव का आरोप लगाते हुए कहा, ‘मुझे तवज्जो नहीं दी गई, जबकि चिराग को एलजेपी संसदीय दल का नेता बना दिया गया। अगर आरजेडी मुझे टिकट देती है, तो मैं हाजीपुर से चुनाव लड़ूंगी।’

इसके पहले रामविलास पासवान के दामाद व आशा पासवान के पति अनिल साधु ने कहा था कि अगर राजद उनकी पत्नी को टिकट देती है, तो वे निश्चित रूप से राम विलास के खिलाफ चुनाव लड़ेंगी। उन्होंने सिर्फ मेरा नहीं, सभी अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति के लोगों का अपमान किया है… दलित उनके बंधुआ मज़दूर नहीं हैं।”

नई दिल्ली। केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान की बेटी आशा पासवान ने पिता के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। उन्‍होंने बड़ा एेलान करते हुए कहा है कि वे अपने पिता के खिलाफ राजद के टिकट पर चुनाव लड़ेंगी। गुरुवार को पासवान की बेटी आशा पासवान ने ऐलान किया कि अगर उन्हें राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) से टिकट मिलता है, तो वह हाजीपुर लोकसभा सीट पर चुनाव लड़ने के लिए तैयार हैं। बता दें कि पासवान इसी लोकसभा सीट से निर्वाचित होते रहे हैं।

'चिराग को बढ़ावा दिया, बेटियों की अनदेखी'

एलजेपी प्रमुख पर केवल अपने बेटे और जमुई सांसद चिराग पासवानको बढ़ावा देने और खुद की अनदेखी का आरोप लगाते हुए आशा पासवान ने अपने पिता पर जमकर हमला बोला। आशा ने पासवान पर लड़कियों से हमेशा भेदभाव का आरोप लगाते हुए कहा, 'मुझे तवज्जो नहीं दी गई, जबकि चिराग को एलजेपी संसदीय दल का नेता बना दिया गया। अगर आरजेडी मुझे टिकट देती है, तो मैं हाजीपुर से चुनाव लड़ूंगी।' इसके पहले रामविलास पासवान के दामाद व आशा पासवान के पति अनिल साधु ने कहा था कि अगर राजद उनकी पत्नी को टिकट देती है, तो वे निश्चित रूप से राम विलास के खिलाफ चुनाव लड़ेंगी। उन्होंने सिर्फ मेरा नहीं, सभी अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति के लोगों का अपमान किया है... दलित उनके बंधुआ मज़दूर नहीं हैं।"