राजस्थान की पायल को भी मिला ‘चेंजमेकर अवॉर्ड’, विश्वभर में तारीफ कर रहे लोग

राजस्थान की पायल को भी मिला 'चेंजमेकर अवॉर्ड', विश्वभर में तारीफ कर रहे लोग
राजस्थान की पायल को भी मिला 'चेंजमेकर अवॉर्ड', विश्वभर में तारीफ कर रहे लोग

नई दिल्ली। अमेरिका में बिल एंड मिलिंडा गेट्स फाउंडेशन की ओर से गोलकीपर ग्लोबल गोल्स अवॉर्ड्स कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेंंद्र मोदी के अलावा एक और भारतीय को ‘चेंजमेकर अवॉर्ड’ से सम्मानित किया गया है। दरअसल, राजस्थान में बाल श्रम और बाल विवाह को खत्म करने के लिए चलाए जा रहे अभियान के लिए पायल जांगिड़ ने यह अवॉर्ड हासिल कर देश को गौरवान्वित किया है।

Payal Jangid Is The Other Indian Awarded Changemaker Award By Gates Foundation :

इस अवॉर्ड से सम्मानित होने के बाद उत्साहित पायल ने कहा कि वह बेहद उत्साहित हैं कि उसे और पीएम मोदी को यह पुरस्कार मिला। उसने कहा मैं बेहद खुश हूं, पीएम मोदी को भी यह पुरस्कार मिला। जिस तरह से हमने अपने गांव में अभियान चला कर इन समस्याओं को खत्म किया है, उसी तरह से विश्व स्तर पर भी करना चाहती हूं।

विश्वभर में हो रही सराहना

अवार्ड मिलने के बाद पायल और उसके अभियान की विश्वभर में सराहना हो रही है। वहीं नोबेल पुरस्कार विजेता कैलाश सत्यार्थी ने कहा कि पायल ने ‘चेंजमेकर अवॉर्ड’ पाकर हमें गौरवान्वित किया। वह उन युवा महिलाओं में से एक हैं, जो भारत और अन्य जगहों पर बच्चों के शोषण के खिलाफ लड़ाई लड़ने में सबसे आगे हैं।

कम उम्र में अपनी शादी से इनकार कर उसने साहस भरा काम किया और उसकी हिम्मत देख गांव और आस-पास के इलाके की अन्य लड़कियों ने भी बाल विवाह से इनकार किया। गेट्स फाउंडेशन ने भी अपने ट्विटर एकाउंट पर पायल के अभियान की कहानी साझा किया है।

नई दिल्ली। अमेरिका में बिल एंड मिलिंडा गेट्स फाउंडेशन की ओर से गोलकीपर ग्लोबल गोल्स अवॉर्ड्स कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेंंद्र मोदी के अलावा एक और भारतीय को 'चेंजमेकर अवॉर्ड' से सम्मानित किया गया है। दरअसल, राजस्थान में बाल श्रम और बाल विवाह को खत्म करने के लिए चलाए जा रहे अभियान के लिए पायल जांगिड़ ने यह अवॉर्ड हासिल कर देश को गौरवान्वित किया है। इस अवॉर्ड से सम्मानित होने के बाद उत्साहित पायल ने कहा कि वह बेहद उत्साहित हैं कि उसे और पीएम मोदी को यह पुरस्कार मिला। उसने कहा मैं बेहद खुश हूं, पीएम मोदी को भी यह पुरस्कार मिला। जिस तरह से हमने अपने गांव में अभियान चला कर इन समस्याओं को खत्म किया है, उसी तरह से विश्व स्तर पर भी करना चाहती हूं। विश्वभर में हो रही सराहना अवार्ड मिलने के बाद पायल और उसके अभियान की विश्वभर में सराहना हो रही है। वहीं नोबेल पुरस्कार विजेता कैलाश सत्यार्थी ने कहा कि पायल ने 'चेंजमेकर अवॉर्ड' पाकर हमें गौरवान्वित किया। वह उन युवा महिलाओं में से एक हैं, जो भारत और अन्य जगहों पर बच्चों के शोषण के खिलाफ लड़ाई लड़ने में सबसे आगे हैं। कम उम्र में अपनी शादी से इनकार कर उसने साहस भरा काम किया और उसकी हिम्मत देख गांव और आस-पास के इलाके की अन्य लड़कियों ने भी बाल विवाह से इनकार किया। गेट्स फाउंडेशन ने भी अपने ट्विटर एकाउंट पर पायल के अभियान की कहानी साझा किया है।