पेटीएम का भी एटीएम जैसा हाल

Paytm 2

नई दिल्ली: मोबाइल भुगतान मंच पेटीएम में लेनदेन संबंधी दिक्कतें जारी हैं और अनेक लोगों को शिकायत है कि उनके बैंक खाते से तो पैसे कट गए लेकिन पेटीएम एकाउंट में नहीं पहुंचे। साथ ही पेटीएम का इस्तेमाल करने वाले अपना मौजूदा बकाया नहीं देख पा रहे हैं जबकि कुछ लोगों के अनुसार वे बकाया वापस बैंक खाते में भी नहीं भेज पा रहे हैं। पेटीएम का इस्तेमाल करने वालों को ये दिक्कतें पिछले कई दिनों से सामने आ रही हैं। उपयोक्ताओं का कहना है कि लेनदेन आईटी सृजित नहीं होने के कारण पेटीएम के ग्राहक सेवा अधिकारी भी मदद नहीं कर पा रहे हैं।




वहीं एप्पल के हैंडसेट इस्तेमाल करने वाले कुछ लोगों का कहना है कि वे पेटीएम का इस्तेमाल ही नहीं कर पा रहे। पेटीएम के प्रवक्ता ने संपर्क करने पर कहा कि ऐसे मामले नियमित रूप से सामने आते हैं जिसमें सर्वर कनेक्टिविटी, बैंक डाउनटाइम या अन्य तकनीकी कारणों के बीच ग्राहक के बैंक खाते से पैसा कट तो जाता है लेकिन पेटीएम में नहीं पहुंच पाता। प्रवक्ता ने कहा, ‘‘इस तरह का लेनदेन 48 घंटे में खुद ब खुद ही सही हो जाता है। इस समय बैंक सर्वरों पर दबाव है इसलिए इस तरह के मामले अधिक सामने आ रहे हैं।’




उल्लेखनीय है कि सरकार द्वारा 500 व 1000 रुपये के मौजूदा नोटों को चलन से बाहर किए जाने के बाद पेटीएम जैसे मोबाइल वालेट व अन्य डिजिटल प्लेटफार्म का इस्तेमाल काफी बढ़ा है। हालांकि, इसके साथ ही इनमें लेनदेन पूरा नहीं हो पाने के मामले भी बढ़े हैं। पेटीएम का कहना है कि वह अपना काम नये सर्वरों पर डाल रही है और अतिरिक्त क्षमता जोड़ रही है इस कारण भी कुछ तकनीकी दिक्कत आ रही है।

नई दिल्ली: मोबाइल भुगतान मंच पेटीएम में लेनदेन संबंधी दिक्कतें जारी हैं और अनेक लोगों को शिकायत है कि उनके बैंक खाते से तो पैसे कट गए लेकिन पेटीएम एकाउंट में नहीं पहुंचे। साथ ही पेटीएम का इस्तेमाल करने वाले अपना मौजूदा बकाया नहीं देख पा रहे हैं जबकि कुछ लोगों के अनुसार वे बकाया वापस बैंक खाते में भी नहीं भेज पा रहे हैं। पेटीएम का इस्तेमाल करने वालों को ये दिक्कतें पिछले कई दिनों से सामने आ रही हैं। उपयोक्ताओं का कहना है कि लेनदेन आईटी सृजित नहीं होने के कारण पेटीएम के ग्राहक सेवा अधिकारी भी मदद नहीं कर पा रहे हैं। वहीं एप्पल के हैंडसेट इस्तेमाल करने वाले कुछ लोगों का कहना है कि वे पेटीएम का इस्तेमाल ही नहीं कर पा रहे। पेटीएम के प्रवक्ता ने संपर्क करने पर कहा कि ऐसे मामले नियमित रूप से सामने आते हैं जिसमें सर्वर कनेक्टिविटी, बैंक डाउनटाइम या अन्य तकनीकी कारणों के बीच ग्राहक के बैंक खाते से पैसा कट तो जाता है लेकिन पेटीएम में नहीं पहुंच पाता। प्रवक्ता ने कहा, ‘‘इस तरह का लेनदेन 48 घंटे में खुद ब खुद ही सही हो जाता है। इस समय बैंक सर्वरों पर दबाव है इसलिए इस तरह के मामले अधिक सामने आ रहे हैं।’ उल्लेखनीय है कि सरकार द्वारा 500 व 1000 रुपये के मौजूदा नोटों को चलन से बाहर किए जाने के बाद पेटीएम जैसे मोबाइल वालेट व अन्य डिजिटल प्लेटफार्म का इस्तेमाल काफी बढ़ा है। हालांकि, इसके साथ ही इनमें लेनदेन पूरा नहीं हो पाने के मामले भी बढ़े हैं। पेटीएम का कहना है कि वह अपना काम नये सर्वरों पर डाल रही है और अतिरिक्त क्षमता जोड़ रही है इस कारण भी कुछ तकनीकी दिक्कत आ रही है।