1. हिन्दी समाचार
  2. ख़बरें जरा हटके
  3. 500 साल पुराने इस बरगद के पेड़ के पास जाने से भी कांपते हैं लोग, मौत के इस पेड़ का खौफनाक सच जानकर चौंक जायेंगे

500 साल पुराने इस बरगद के पेड़ के पास जाने से भी कांपते हैं लोग, मौत के इस पेड़ का खौफनाक सच जानकर चौंक जायेंगे

People Are Shaken Even By Going Near This Banyan Tree 500 Years Old They Will Be Shocked To Know The Dreadful Truth Of This Tree Of Death

By टीम पर्दाफाश 
Updated Date

नई दिल्ली: आज हम आपको एक ऐसा बरगद का पेड़ बताने जा रहे हैं जिस पर मौत का साया भटकता रहता है. कोई भी इस बरगद के पेड़ से छेड़खानी करता है तो वो मौत को गले लगा लेता है.हिंदू धर्म में देवी-देवताओं की पूजा के अलावा कुछ पेड़-पौधे जैसे तुलसी, पीपल और बरगद को भी पूजा जाता है. हर घर में सुबह-सुबह तुलसी के पौधे की जल चढ़ाकर पूजा की जाती है, तो वहीं हर शनिवार के दिन पीपल के पेड़ के नीचे तेल का दीपक जलाया जाता है, इसके अलावा बरगद के पेड़ की भी साल में एक बार बड़ी पूजा की जाती है. जिसमें महिलाएं बरगद के पेड़ के चारों तरफ कलावा बांधकर अपने पति की लंबी उम्र के लिए व्रत भी रखती हैं, लेकिन कभी आपने बरगद के पेड़ को “मौत के पेड़” के नाम से नहीं सुना होगा.

पढ़ें :- पूजन सामग्री के धोखे में बहा दी ऐसी अनमोल चीज, मालूम पड़ने पर खिसक गई पैरों तले जमीन

खून का प्यासा ये बरगद का पेड़ पंजाब के फतेहगढ़ के साहिब जिले में हैं. बताया जाता है कि इस बरगद के पेड़ के पास जाने से ही लोग कांंपते हैं, क्योंकि जो भी इस पेड़ के पास जाता है वो ज्यादा दिन तक जीवित नहीं रह पाता है यहां तक कि जिस खेत में इस पेड़ की जड़ें फैलने लगती हैं वहां किसान खेती करना छोड़ देते हैं. 500 साल पुराने इस बरगद के पेड़ की मान्यता है, कि अगर जो भी इसकी बढ़ी हुई जड़ों को काटने की कोशिश भी करता है तो उसके परिवार में किसी ना किसी व्यक्ति की मौत हो जाती है.

इस खौफनाक बरगद के पेड़ की इस मान्यता के पीछे की वजह ये मानी जाती है, कि कई साल पहले इस जगह पर एक संत आया था. जिन्होंने एक किसान के संतान ना होने की बात सुनी थी, जिसके बाद उस संत ने किसान को एक भस्म पत्नी को खिलाने के लिए दी, लेकिन किसान की पत्नी ने उस भस्म को खाने से मना कर दिया. जिसके बाद किसान वापस आकर संत को भस्म लौटाने लगा जिसे संत ने वापस लेने से इंकार कर दिया, तो किसान ने वो भस्म वहीं जमीन पर रख दी. कुछ समय बाद उस जगह पर एक बरगद का पेड़ उग आया जो आज तक लोगों के लिए मौत का साया बना है.

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...