यहां के लोग मंदिर बनाकर करते हैं मोदी की पूजा

modi mandir
यहां के लोग मंदिर बनाकर करते हैं मोदी की पूजा

नईदिल्ली। पीएम नरेंद्र मोदी मंगलवार को अपना 69वां जन्मदिन मना रहे हैं। पीएम के जन्मदिन के मौके पर हम आपको बता रहे हैं बिहार के एक ऐसे गांव की कहानी जहां के लोग पीएम मोदी को देवता हैं। मामला बिहार के कटिहार जिले में आजमनगर प्रखंड के आनंदपुर गांव का है। यहां के ग्रामीणों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की विकास नीति से प्रभावित होकर लगभग दो साल पहले सर्वसम्मति से गांव के ही बजरंगबली के मंदिर में पीएम मोदी की मूर्ति रख कर पूजा पाठ की शुरुआत की।

People Here Worship Modi By Building Temple :

बिहार के कटिहार स्थित आजमनगर प्रखंड में एक गांव है सिंघारोल। करीब दो सौ घरों वाला यह गांव आजादी के बाद करीब 67 साल तक विकास से अछूता रहा। जब केंद्र में नरेंद्र मोदी की सरकार बनी तो यहां विकास के नए रास्‍ते खुले। प्रधानमंत्री सड़क योजना के अंतर्गत सड़कें बनीं, गांव में बिजली भी आ गई और हर घर में शौंचालय भी बन गए। ग्रामीणों ने इसका श्रेय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की नीतियों को दिया तथा उन्‍हें विकास का देवता मानने लगे। मंगलवार को पीएम के जन्मदिन के मौके पर भी आनंदपुर के इस ‘मोदी मंदिर’ में खास तैयारी की गई। पीएम के जन्मदिन को लेकर आनंदपुर में उत्सव सा माहौल है।

ग्रामीण अजय साह ने बताया कि यहां के लोगों ने अपने ही खर्च से मोदी जी की मूर्ति बनाकर सर्वसम्मति से उसे गांव के ही बजरंगबली के मंदिर में रखा है। मंगलवार को मोदी जी के जन्मदिन के मौके पर गांव में खास तैयारी है। परम्परा के साथ आधुनिक होते ग्रामीण जहां प्रधानमंत्री के जन्मदिन के अवसर पर केक के साथ मिठाई खिलाकर एक दूसरे को बधाई दे रहे हैं, वहीं शंखनाद के बीच मंदिर को खास ढंग से सजाया गया है।

यहां के ग्रामीण पीएम मोदी के कहने पर बेटियों को स्कूल भेजने को लेकर वह विशेष ध्यान रखते हैं। ग्रामीण तारक कहते हैं कि वे लोग बगैर किसी से चंदा लिए धीरे-धीरे अपनी मेहनत और ईमादारी के पैसे से ही ‘मोदी मंदिर’ को भव्य रूप देंगे। बस एक इच्छा है कि प्रधानमंत्री उनके गांव में जाएं।

नईदिल्ली। पीएम नरेंद्र मोदी मंगलवार को अपना 69वां जन्मदिन मना रहे हैं। पीएम के जन्मदिन के मौके पर हम आपको बता रहे हैं बिहार के एक ऐसे गांव की कहानी जहां के लोग पीएम मोदी को देवता हैं। मामला बिहार के कटिहार जिले में आजमनगर प्रखंड के आनंदपुर गांव का है। यहां के ग्रामीणों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की विकास नीति से प्रभावित होकर लगभग दो साल पहले सर्वसम्मति से गांव के ही बजरंगबली के मंदिर में पीएम मोदी की मूर्ति रख कर पूजा पाठ की शुरुआत की। बिहार के कटिहार स्थित आजमनगर प्रखंड में एक गांव है सिंघारोल। करीब दो सौ घरों वाला यह गांव आजादी के बाद करीब 67 साल तक विकास से अछूता रहा। जब केंद्र में नरेंद्र मोदी की सरकार बनी तो यहां विकास के नए रास्‍ते खुले। प्रधानमंत्री सड़क योजना के अंतर्गत सड़कें बनीं, गांव में बिजली भी आ गई और हर घर में शौंचालय भी बन गए। ग्रामीणों ने इसका श्रेय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की नीतियों को दिया तथा उन्‍हें विकास का देवता मानने लगे। मंगलवार को पीएम के जन्मदिन के मौके पर भी आनंदपुर के इस 'मोदी मंदिर' में खास तैयारी की गई। पीएम के जन्मदिन को लेकर आनंदपुर में उत्सव सा माहौल है। ग्रामीण अजय साह ने बताया कि यहां के लोगों ने अपने ही खर्च से मोदी जी की मूर्ति बनाकर सर्वसम्मति से उसे गांव के ही बजरंगबली के मंदिर में रखा है। मंगलवार को मोदी जी के जन्मदिन के मौके पर गांव में खास तैयारी है। परम्परा के साथ आधुनिक होते ग्रामीण जहां प्रधानमंत्री के जन्मदिन के अवसर पर केक के साथ मिठाई खिलाकर एक दूसरे को बधाई दे रहे हैं, वहीं शंखनाद के बीच मंदिर को खास ढंग से सजाया गया है। यहां के ग्रामीण पीएम मोदी के कहने पर बेटियों को स्कूल भेजने को लेकर वह विशेष ध्यान रखते हैं। ग्रामीण तारक कहते हैं कि वे लोग बगैर किसी से चंदा लिए धीरे-धीरे अपनी मेहनत और ईमादारी के पैसे से ही 'मोदी मंदिर' को भव्य रूप देंगे। बस एक इच्छा है कि प्रधानमंत्री उनके गांव में जाएं।