मुजफ्फरपुर : गरीबनाथ मंदिर में बेकाबू हुई कांवड़ियों की भीड़, भगदड़ में 25 जख्मी

मुजफ्फरपुर : गरीबनाथ मंदिर में बेकाबू हुई कांवड़ियों की भीड़, भगदड़ में 25 जख्मी
मुजफ्फरपुर : गरीबनाथ मंदिर में बेकाबू हुई कांवड़ियों की भीड़, भगदड़ में 25 जख्मी

नई दिल्ली। बिहार के मुजफ्फरपुर स्थित प्रसिद्ध गरीबनाथ मंदिर में सावन की तीसरी सोमवारी को जल चढ़ाने आए कांवड़ियों की भीड़ बेकाबू हो गई। इस हादसे में 25 श्रद्धालु जख्मी हो गए। ये श्रद्धालु सावन महीने के सोमवार को भगवान शिव का जलाभिषेक करने आए थे। बताया जा रहा है कि ज्यादा भीड़ के चलते भगदड़ मची और ये लोग जख्मी हो गए। घायलों को नजदीकी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। अब हालात पर काबू पा लिया गया है।

People Injured After Stampede In Garibnath Temple Bihar Muzaffarpur :

सावन मास के सोमवार को शिव की उपासना का खास महत्व होने के चलते देश भर के मंदिरों में हजारों की संख्या में श्रद्धालु पहुंच रहे हैं। बाबा गरीबनाथ मंदिर में सुबह उमड़ी भीड़ को काबू करने की कोशिश नाकाफी रही और भीड़ के चलते भगदड़ मच गई। इसके बाद मची अफरा-तफरी में कई लोग नीचे गिर गए तो कुछ बाकियों के पैरों से कुचल गए।

पुलिस के जवानों का कहना है कि कावड़ियों से लगातार जलाभिषेक के दौरान शांति बनाए रखने की अपील की जा रही थी। सुबह चार बजे तक कई बार भीड़ अनियंत्रित हुई थी। बीच में स्थिति संभाल ली गई, लेकिन फिर कांवड़िये अनियंत्रित हो गए और भगदड़ मच गई। पुलिस के मुताबिक, फिलहाल हालात नियंत्रण में है।

सुरक्षा व्यवस्था के बावजूद मची भगदड़

कांवड़ियों के लिए बड़े पैमाने पर प्रशासन की है व्यवस्था, फिर भी भगदड़ की नौबत आ गई। सुरक्षा व्यवस्था में 373 मजिस्ट्रेट और 373 पुलिस अधिकारी लगाए गए हैं। साथ ही 892 पुलिस जवानों की तैनाती की गई है। डीएम और एसएसपी खुद निगरानी कर रहे हैं।

ज्ञात हो कि मुजफ्फरपुर के इस मंदिर में सावन महीने में शिवभक्तों का तांता लगा रहता है। पहलेजाघाट से गंगाजल भरकर शिवभक्त यहां जलाभिषेक के लिए आते हैं। यह मंदिर शहर के बीचोबीच स्थित है। आज सावन की तासरी सोमवारी है। शिवलिंग पर जलाभिषेक के लिए शिवालयों में शिवभक्तों की भारी भीड़ है। बोलबम और हर-हर महादेव से पूरा इलाका गुंजायमान है।

नई दिल्ली। बिहार के मुजफ्फरपुर स्थित प्रसिद्ध गरीबनाथ मंदिर में सावन की तीसरी सोमवारी को जल चढ़ाने आए कांवड़ियों की भीड़ बेकाबू हो गई। इस हादसे में 25 श्रद्धालु जख्मी हो गए। ये श्रद्धालु सावन महीने के सोमवार को भगवान शिव का जलाभिषेक करने आए थे। बताया जा रहा है कि ज्यादा भीड़ के चलते भगदड़ मची और ये लोग जख्मी हो गए। घायलों को नजदीकी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। अब हालात पर काबू पा लिया गया है। सावन मास के सोमवार को शिव की उपासना का खास महत्व होने के चलते देश भर के मंदिरों में हजारों की संख्या में श्रद्धालु पहुंच रहे हैं। बाबा गरीबनाथ मंदिर में सुबह उमड़ी भीड़ को काबू करने की कोशिश नाकाफी रही और भीड़ के चलते भगदड़ मच गई। इसके बाद मची अफरा-तफरी में कई लोग नीचे गिर गए तो कुछ बाकियों के पैरों से कुचल गए। पुलिस के जवानों का कहना है कि कावड़ियों से लगातार जलाभिषेक के दौरान शांति बनाए रखने की अपील की जा रही थी। सुबह चार बजे तक कई बार भीड़ अनियंत्रित हुई थी। बीच में स्थिति संभाल ली गई, लेकिन फिर कांवड़िये अनियंत्रित हो गए और भगदड़ मच गई। पुलिस के मुताबिक, फिलहाल हालात नियंत्रण में है।

सुरक्षा व्यवस्था के बावजूद मची भगदड़

कांवड़ियों के लिए बड़े पैमाने पर प्रशासन की है व्यवस्था, फिर भी भगदड़ की नौबत आ गई। सुरक्षा व्यवस्था में 373 मजिस्ट्रेट और 373 पुलिस अधिकारी लगाए गए हैं। साथ ही 892 पुलिस जवानों की तैनाती की गई है। डीएम और एसएसपी खुद निगरानी कर रहे हैं। ज्ञात हो कि मुजफ्फरपुर के इस मंदिर में सावन महीने में शिवभक्तों का तांता लगा रहता है। पहलेजाघाट से गंगाजल भरकर शिवभक्त यहां जलाभिषेक के लिए आते हैं। यह मंदिर शहर के बीचोबीच स्थित है। आज सावन की तासरी सोमवारी है। शिवलिंग पर जलाभिषेक के लिए शिवालयों में शिवभक्तों की भारी भीड़ है। बोलबम और हर-हर महादेव से पूरा इलाका गुंजायमान है।