बलूचिस्तान के लोगों ने पीएम मोदी से लगाई गुहार, कहा-हमें भी पाक से दिलाएं आजादी

baluchistan
बलूचिस्तान के लोगों ने पीएम मोदी से लगाई गुहार, कहा-हमें भी पाक से दिलाएं आजादी

नई दिल्ली। भारत आज अपना 73वां स्वतंत्रता दिवस मना रहा है। वहीं, कश्मीर मुद्दे पर पाकिस्तान ने भारत के स्वतंत्रता दिवस पर काला दिवस मनाने का ऐलान किया था। इस बीच बलूचिस्तान प्रांत के लोगों ने भारतवासियों को स्वत्रतंता दिवस की बधाई दी है। इसके साथ ही वहां के लोगों ने जय हिंद के नारे लगाए। बलूचिस्तान के लोगों ने भारत सरकार से अपील की है कि उन्हें भी आजादी दिलाने में मदद करें।

People Of Balochistan Sought Help From Pm Modi :

पाकिस्तान दक्षिण पश्चिम में स्थित बलूचिस्तान प्रांत के लोगों ने भारत को उसके स्वतंत्रता दिवस पर बधाई दी। इस दौरान उन्होंने भारत सरकार से अनुरोध किया कि उन्हें पाकिस्तान सरकार से बचाएं और आजादी दिलाने में सहयोग करें। बलोच कार्यकर्ताओं ने कहा कि, आजादी के लिए उन्हें भारत सरकार के सहयोग और समर्थन की जरूरत है। वहीं, पाकिस्तान दुनिया के सामने कश्मीर मुद्दे पर उठाए गये भारत के कदम का रोना रो रहा है।

इसके बाद भी दुनिया के प्रमुख देशों ने पाकिस्तान की सभी दलीलों को खारिज कर दिया है। बलूचिस्तान पाकिस्तान का करीब 44 फीसद हिस्सा है। इस इलाके में अधिकांश बलूच आबादी रहती है। यह इलाका पाकिस्तान का सबसे गरीब और उपेक्षित इलाका है। जबकि प्राकृतिक संसाधानों के लिहाज यह यह सर्वाधिक उपयोगी क्षेत्र है। इस कारण पाकिस्तान यहां के लोगों पर दमन करता रहता है।

बता दें कि, 1948 से बलूचिस्तान पाकिस्तान के कब्जे के खिलाफ संघर्ष कर रहा है। बलूस्तिान के लोगों का दावा है कि उन्हें 11 अगस्त 1947 को अंग्रेजों से आजादी मिली थी। लेकिन पाकिस्तान इसे अपना हिस्सा बताता रहा है।

नई दिल्ली। भारत आज अपना 73वां स्वतंत्रता दिवस मना रहा है। वहीं, कश्मीर मुद्दे पर पाकिस्तान ने भारत के स्वतंत्रता दिवस पर काला दिवस मनाने का ऐलान किया था। इस बीच बलूचिस्तान प्रांत के लोगों ने भारतवासियों को स्वत्रतंता दिवस की बधाई दी है। इसके साथ ही वहां के लोगों ने जय हिंद के नारे लगाए। बलूचिस्तान के लोगों ने भारत सरकार से अपील की है कि उन्हें भी आजादी दिलाने में मदद करें। पाकिस्तान दक्षिण पश्चिम में स्थित बलूचिस्तान प्रांत के लोगों ने भारत को उसके स्वतंत्रता दिवस पर बधाई दी। इस दौरान उन्होंने भारत सरकार से अनुरोध किया कि उन्हें पाकिस्तान सरकार से बचाएं और आजादी दिलाने में सहयोग करें। बलोच कार्यकर्ताओं ने कहा कि, आजादी के लिए उन्हें भारत सरकार के सहयोग और समर्थन की जरूरत है। वहीं, पाकिस्तान दुनिया के सामने कश्मीर मुद्दे पर उठाए गये भारत के कदम का रोना रो रहा है। इसके बाद भी दुनिया के प्रमुख देशों ने पाकिस्तान की सभी दलीलों को खारिज कर दिया है। बलूचिस्तान पाकिस्तान का करीब 44 फीसद हिस्सा है। इस इलाके में अधिकांश बलूच आबादी रहती है। यह इलाका पाकिस्तान का सबसे गरीब और उपेक्षित इलाका है। जबकि प्राकृतिक संसाधानों के लिहाज यह यह सर्वाधिक उपयोगी क्षेत्र है। इस कारण पाकिस्तान यहां के लोगों पर दमन करता रहता है। बता दें कि, 1948 से बलूचिस्तान पाकिस्तान के कब्जे के खिलाफ संघर्ष कर रहा है। बलूस्तिान के लोगों का दावा है कि उन्हें 11 अगस्त 1947 को अंग्रेजों से आजादी मिली थी। लेकिन पाकिस्तान इसे अपना हिस्सा बताता रहा है।