यूपी और दिल्ली में 400 से 500 रूपए बिक गया 18 रूपए​ वाला नमक

लखनऊ। कौवा नाक ले गया और हम बिना अपनी नाक को टटोले, भाग खड़े हुए कौवे के ओर। ऐसा ही कुछ शुक्रवार को यूपी, उत्तराखंड और दिल्ली में हुआ। पुराने नोट बदलने के बाद जरूरत का सामान खरीद रहे लोग बाजार में नमक खत्म होने की अफवाह का शिकार हो गए। खबर इतनी तेज फैली की 12 से 18 रूपए किलो बिकने वाले नमक की कीमत कुछ ही घंटों में 20 से 200 रूपए तक बढ़ गई। रात होते होते नमक के दाम 400 से 500 रूपए तक पहुंच गए। एकाएक बढ़ी नमक की मांग देखकर दुकानदारों ने नमक की कालाबाजारी शुरू कर दी। नमक को लेकर बाजार में मचे हड़कंप की खबर जैसे ही मीडिया ने दिखाई तो यूपी और दिल्ली के मुख्यमंत्रियों ने स्वयं इस खबर को संज्ञान में लेते हुए खाद्य आपूर्ति विभाग के अधिकारियों और पुलिस को एलर्ट करना पड़ा।




अब आपको बताते हैं कैसे शुरू हुआ अफवाहों का दौर

दरअसल 8 अक्टूबर की रात से पुराने नोटों के बंद होने के बाद से छोटे कारो​बारियों को माल बेंचने और खरीदने में कुछ मुश्किल हो रही है। बड़े कारोबारी छोटे दुकानदारों से 1000 और 500 के नोट लेने से बचने के लिए माल की सप्लाई नहीं कर रहे हैं। जिस वजह से उत्तराखंड और उसकी सीमा से लगे पश्चिमी उत्तर प्रदेश के कुछ जिलों के दुकानदारों ने अपने ग्राहकों से नमक न होने और नमक की कमी होने की बात कह दी। जहां से अफवाहों का दौर शुरू हुआ और उसका असर पूरे यूपी और धीरे धीरे दिल्ली तक दिखने लगा। लोग पंसारियों की दुकानों पर नमक खरीदने के लिए जुटने लगे। किसी ने दो किलो खरीदा तो किसी ने 5 किलो।




जैसे ही दुकानों पर नमक खत्म हुआ तो थोक नमक कारोबारियों ने नमक के दाम ही बढ़ा दिए। दुकानों पर नमक खत्म होने की खबरों से शहर के शहर इस अफवाह को सच मान बैठे। नमक के पैकेटों के लिए पंसारियों की दुकानों पर ग्राहकों के बीच मारपीट तक की नौबत आ गई। नतीजा ये निकला कि जिन दुकानों पर नमक मौजूद था उन्होंने भी मनमानी कीमत बसूल कर नमक बेंचा।

यूपी के शाहजहांपुर में नमक बंद होने की अफवाह से पूरे जिले में अफरातफरी फैल गयी लोगों का बाजारों में हुजूम हो गया और नमक का भाव 400 रूपये प्रति किलो तक पहुँच गए। कुछ दुकानदारों ने भीड़ को समझाने की कोशिश भी की। नमक को लेकर ग्राहकों के बीच मचे हड़कंप की खबर मिलते ही प्रशासन को हरकत में आना पड़ा।




ऐसा ही कुछ यूपी के कानपुर में भी देखने को मिला। देर शाम अचानक नमक के रेट बढ़ने की अफवाह फ़ैल गई। लोग घरों से निकाल कर सबसे पहले नमक खरीदने के लिए जाने लगे, लोगों में पहले नमक खरीदने की होड़ मच गई। अफवाह से स्तिथि इतनी खराब हो गई की कई जगह लोगो में नमक पहले खरीदने को लेकर मारपीट हो गई। किराना दुकानदारो की चांदी हो गई जो नमक पहले 18 रुपये किलो तक बिक रहा था, वही 250 रुपये में बिक गया। घरों से निकली भीड़ दुकानों के बाहर लगी लंबी लाइनों में लगी नजर आई पुरे शहर में ट्रैफिक बिगड़ गया। जगह जगह भीषण जाम लगने लगा। जिसके कारण अन्य राहगीरों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ा।




वहीं जालौन के उरई में नमक का दाम 500 रुपये किलो होने की अफवाह से अचानक बाजार से नमक गायब हो गया। बाजार और परचून की दुकानों पर नमक लेने वालों की भारी भीड़ देखने को मिली कुछ लोग तो नमक के पैकेटों की बोरी ही खरीद ली। दुकानदारों के पास नमक न बचा होने के कारण ग्राहक नमक की तलाश में दुकान—दुकान चक्कर लगाते नजर आए।

Loading...